S M L

राफेलः चेयरमेन आर माधवन ने HAL के शामिल होने से किया इनकार, कहा- अब कोई बात नहीं

चेयरमैन आर माधवन ने बीते शुक्रवार को कहा था कि एचएएल राफेल फाइटर जेट्स को बनाने में वह पूरी तरह से सक्षम है

Updated On: Dec 22, 2018 01:46 PM IST

FP Staff

0
राफेलः चेयरमेन आर माधवन ने HAL के शामिल होने से किया इनकार, कहा- अब कोई बात नहीं

हिंदुस्तान ऐयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) के चेयरमैन आर माधवन ने बीते शुक्रवार को कहा था कि एचएएल राफेल फाइटर जेट्स को बनाने में वह पूरी तरह से सक्षम है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि अभी हुई 36 राफेल विमानों की डील में टेक्नोलॉजी ट्रांसफर की बात नहीं हुई है. बता दें कि राफेल डील में ऑफसेट पार्टनर को चुने जाने पर हुए विवाद के बाद से ही एचएएल चर्चा में बना हुआ है. अब एचएएल के चेयरमेन आर माधवन ने कहा है- यदि पहले की तरह 126 विमान बनाए जाने थे, तो कुछ यहां बनाए गए होंगे और अन्य खरीदे गए होंगे. लेकिन अगर अब वह 36 विमान खरीद चुके हैं, हमारे लिए इसे बनाने का कोई सवाल ही नहीं है. अब इसमें एचएएल शामिल नहीं है, मैं अभी टिप्पणी नहीं करना चाहता.

बता दें कि कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि फ्रेंच कंपनी दसॉल्ट एविएशन से राफेल फाइटर विमानों की डील में काफी ज्यादा रकम चुकाई गई है. कांग्रेस का दावा है कि यूपीए सरकार में हुई डील में राफेल विमानों की कीमत काफी कम रखी गई थी. उस समय कुल 126 राफेल विमानों के लिए डील की गई थी. विपक्ष का सरकार पर यह भी आरोप है कि उसने विमान बनाने वाली सरकारी कंपनी एचएएल को नजरअंदाज करते हुए प्राइवेट कंपनी रिलायंस डिफेंस को डील में ऑफसेट पार्टनर बनाए जाने में मदद की है. कांग्रेस का कहना है कि टेक्नोलॉजी ट्रांसफर के जरिए काफी सारे राफेल विमान एचएएल में बनाए जा सकते थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi