S M L

BHU की परीक्षा में पद्मावती का जौहर, हलाला, तीन तलाक पर सवाल से बवाल

छात्रों का तर्क है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ऐसे सवालों के जरिए छात्रों पर एक खास विचारधारा थोपने का प्रयास कर रहा है

FP Staff Updated On: Dec 10, 2017 05:09 PM IST

0
BHU की परीक्षा में पद्मावती का जौहर, हलाला, तीन तलाक पर सवाल से बवाल

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) एक बार फिर सुर्खियों में है. इस बार एमए इतिहास के सेकेंड ईयर के परीक्षा में पूछे गए सवालों को लेकर विश्वविद्यालय चर्चा में है. 'सोसाइटी ऑफ कल्चर एंड रिलीजन इन मेडिवल इंडिया' विषय की थर्ड सेमेस्टर की परीक्षा में छात्रों से रानी पद्मिनी और उनके जौहर को लेकर सवाल पूछा गया था.

16वीं सदी के मल्लिक मुहम्मद जयसी की कविता में चित्तौड़ की इस कथित रानी का जिक्र है. इससे ही प्रभावित होकर संजय लीला भंसाली ने फिल्म पद्मावती का निर्माण किया है जिसका अब घोर विरोध हो रहा है.

प्रश्नपत्र में छात्रों से रानी पद्मिनी के जौहर को लेकर सवाल पूछा गया था. 10 अंकों का यह सवाल इस तरह से था- जौहर प्रथा क्या थी? अलाउद्दीन खिलजी के दौर में रानी पद्मावती के जौहर की व्याख्या करें?

पुराने समय में जब किसी राजपूत हिंदू स्त्री (रानी) के पति की युद्ध में पराजय होती थी और वो वीरगति को प्राप्त होते थे तब उनकी पत्नी जौहर कुंड में आग लगाकर उसमें कूद कर अपनी जान दे देती थी.

इसके अलावा पेपर में ट्रिपल तलाक, हलाला और अलाउद्दीन खिलजी पर भी सवाल पूछे गए थे. इन सवालों के पूछे जाने को लेकर अब विवाद गहराने लगा है.

BHU

बनारस हिंदी यूनिवर्सिटी का मुख्य द्वार

छात्रों का तर्क है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ऐसे सवालों के जरिए छात्रों पर एक खास विचारधारा थोपने का प्रयास कर रहा है. उन्होंने कहा कि इस तरह के सवाल पूछने से पहले ऐसी चीजों को सिखाया जाना चाहिए.

इतिहास के प्रश्नपत्र में छात्रों से पूछा गया है कि जिल्ले अल्लाह क्या है? इस्लाम में हलाला क्या है? अलाउद्दीन खिलजी द्वारा नियत की गई गेंहू की कीमत क्या थी?

इस पर बीएचयू के असिस्टेंट प्रोफेसर, राजीव श्रीवास्तव ने कहा कि छात्रों को अगर इस तरह की बातें नहीं सिखाई जाती है और पूछी जाती हैं, तो वो इसके बारे में कैसे जान पाएंगे?

उन्होंने कहा कि छात्रों को संजय लीला भंसाली आकर तो इतिहास नहीं सिखाएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi