S M L

पुष्कर ऊंट मेला 2018: देखिए दुनिया के सबसे बड़े पशु मेले की खास तस्वीरें

देश | FP Staff | Nov 18, 2018 05:31 PM IST
X
1/ 5
पुष्कर में हर साल आयोजित होने वाला पुष्कर ऊंट मेला जिसे पुष्कर मेले के नाम से भी जाना जाता है, शुरू हो चुका है. इस साल ये मेला 16 नवंबर से शुरू हुआ है और 23 नवंबर तक चलेगा ( फोटो: रॉयटर्स)

पुष्कर में हर साल आयोजित होने वाला पुष्कर ऊंट मेला जिसे पुष्कर मेले के नाम से भी जाना जाता है, शुरू हो चुका है. इस साल ये मेला 16 नवंबर से शुरू हुआ है और 23 नवंबर तक चलेगा ( फोटो: रॉयटर्स)

X
2/ 5
7 दिनों तक चलने वाले इस मेले को दुनिया के सबसे बड़े पशु मेले के तौर पर भी जाना जाता है (फोटो: पीटीआई)

7 दिनों तक चलने वाले इस मेले को दुनिया के सबसे बड़े पशु मेले के तौर पर भी जाना जाता है (फोटो: पीटीआई)

X
3/ 5
इस मेले का आयोजन हर साल कार्तिक महीने में किया जाता है. इसमे रंगारंग कार्यक्रम, प्रदर्शनी और कई तरह की प्रतियोगिताएं भी होती हैं (फोटो: रॉयटर्स)

इस मेले का आयोजन हर साल कार्तिक महीने में किया जाता है. इसमे रंगारंग कार्यक्रम, प्रदर्शनी और कई तरह की प्रतियोगिताएं भी होती हैं (फोटो: रॉयटर्स)

X
4/ 5
रेगिस्तान के जहाज के नाम से प्रसिद्ध ऊंट इस मेले में एक टांग पर दौड़ लगाकर पर्यटकों का मनोरंजन करते है. इसके अलावा अलग-अलग नस्ल वाले पशु भी इस मेले का खास आकर्षण होते हैं (फोटो: रॉयटर्स)

रेगिस्तान के जहाज के नाम से प्रसिद्ध ऊंट इस मेले में एक टांग पर दौड़ लगाकर पर्यटकों का मनोरंजन करते है. इसके अलावा अलग-अलग नस्ल वाले पशु भी इस मेले का खास आकर्षण होते हैं (फोटो: रॉयटर्स)

X
5/ 5
धार्मिक तौर पर भी पुष्कर मेले का काफी महत्व हैं. कहते हैं पूर्णिमा के दिन सभी देवी-देवता पुष्कर झील में इकट्ठा होते हैं. इसलिए इस जगह को काफी पवित्र माना जाता है, और यही वजह है कि भारी संख्या में श्रद्धालु पुष्कर सरोवर में डुबकी लगाकर पुण्योदय की कामना करते हैं (फोटो: पीटीआई)

धार्मिक तौर पर भी पुष्कर मेले का काफी महत्व हैं. कहते हैं पूर्णिमा के दिन सभी देवी-देवता पुष्कर झील में इकट्ठा होते हैं. इसलिए इस जगह को काफी पवित्र माना जाता है, और यही वजह है कि भारी संख्या में श्रद्धालु पुष्कर सरोवर में डुबकी लगाकर पुण्योदय की कामना करते हैं (फोटो: पीटीआई)

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी