S M L

ओडिशा: पुरी में शुरू हुई जगन्नाथ रथ यात्रा, पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं

इस रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा रथ में बैठकर जगन्नाथ मंदिर से गुंडिचा मंदिर जाते हैं. गुंडिचा मंदिर को भगवान जगन्नाथ की मौसी का घर माना जाता है

FP Staff Updated On: Jul 14, 2018 02:08 PM IST

0
ओडिशा: पुरी में शुरू हुई जगन्नाथ रथ यात्रा, पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं

ओडिशा के पुरी में शनिवार से नौ दिनों तक चलने वाली जगन्नाथ रथ यात्रा शुरू हो गई है. हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु इस यात्रा में शामिल होने के लिए पुरी पहुंचते हैं. दोपहर 12 बजे से शुरू होने वाली इस रथ यात्रा में बीजेपी के केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी पहुंचे. प्रधान ने ट्विटर पर देशभर के लोग, विशेषकर ओड़िया समाज को जगन्नाथ यात्रा की शुभकामनाएं दीं.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर देशवासियों को जगन्नाथ यात्रा की शुभकामनाएं देते हुए एक वीडियो शेयर किया. मोदी ने कहा, 'भगवान जगन्नाथ यात्रा के इस अवसर पर मैं सभी देशवासियों को शुभकामनाएं देता हूं और साथ-साथ भगवान जगन्नाथ का आशीर्वाद गरीब जनता पर बरसे, किसानों पर बरसे, वर्षा अच्छी हो इसकी प्रार्थना करता हूं'.

इस रथयात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ, भगवान बालभद्र और देवी सुभद्रा रथ में बैठकर जगन्नाथ मंदिर से गुंडिचा मंदिर जाते हैं. गुंडिचा मंदिर को भगवान जगन्नाथ की मौसी का घर माना जाता है. रथ यात्रा के दौरान साल में एक बार भगवान जगन्नाथ अपने भाई-बहनों के साथ जगन्नाथ मंदिर से इसी गुंडिचा मंदिर में रहने के लिए आते हैं. अपनी मौसी के घर में भगवान एक हफ्ते तक ठहरते हैं, जहां उनका खूब आदर-सत्‍कार होता है. इस दौरान उन्‍हें कई प्रकार के स्‍वादिष्‍ट पकवानों और फल-फूलों का भोग लगाया जाता है.

बता दें की इस रथयात्रा की सजावट खास किस्म के फूलों से की गई है. यह फूल कोलकाता से खासतौर पर यात्रा के लिए ही मंगवाए गए हैं. हालांकि देश के कई प्रदेशों में जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाती है, लेकिन इन सारी यात्राओं में सबसे भव्य पुरी की जगन्नाथ यात्रा ही होती है. वैसे भी पुरी जगन्नाथ श्रद्धालुओं के लिए सबसे पवित्र जगह माना जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi