S M L

पंजाब यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक का दावा- डायनासोर की खोज भगवान ब्रह्मा ने की थी

अंशु खोसला ने दावा किया कि इस दुनिया में जो कुछ भी है, उसे ब्रह्मा जानते हैं

Updated On: Jan 07, 2019 08:59 PM IST

FP Staff

0
पंजाब यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक का दावा- डायनासोर की खोज भगवान ब्रह्मा ने की थी

पंजाब यूनिवर्सिटी के एक भूविज्ञानी ने चौंकाने वाला दावा किया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक उन्होंने कहा कि भगवान ब्रह्मा ने सबसे पहले डायनासोर को खोजा था और इसका जिक्र वेदों में भी है.

असिस्टेंट प्रोफेसर अंशु खोसला ने दावा किया कि इस दुनिया में जो कुछ भी है, उसे ब्रह्मा जानते हैं. वे डायनासोर के बारे में सब कुछ जानते थे और उन्होंने वेदों में भी इसका जिक्र किया.

उनका कहना है कि डायनासोर की खोज ब्रह्मा ने की थी और जब यह जीव विलुप्त हुआ, उससे पहले उनके विकास और प्रजनन में भारत भूमि का महत्वपूर्ण हाथ है.

भूविज्ञानी ने यह दावे अपने रिसर्च पेपर में किए हैं. यह भूविज्ञानी बीते 25 सालों से भारत में डायनासोर की उत्पत्ति और विकास पर रिसर्च कर रहे हैं. प्रोफेसर खोसला का यह भी दावा है कि अमेरिकी और ब्रिटिश लोगों ने हमारे वेदों से ही डायनासोर की अवधारणा को लिया.

अपनी रिसर्च में प्रोफेसर खोसला कहते हैं कि डायनासोर करीब 6.5 करोड़ पहले विलुप्त हो गए थे लेकिन ब्रह्मा को वेद लिखने के दौरान अपनी आध्यात्मिक शक्तियों के माध्यम से उनके बारे में पता लग गया होगा.

खोसला ने यह भी कहा कि डायनासोर की उत्पत्ति संस्कृत से हुई. डिनो का मतलब भयानक और सोर का मतलब छिपकली होता है. प्रोफेसर का दावा है कि उन्हें गुजरात के खेड़ा जिले में डायनासोर के अवशेष मिले और उन्होंने इस जगह का नाम राजासौरस नर्मदा रखा.

ये भी पढ़ें: गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण: नाराज सवर्णों को रिझाने का दांव कितना कारगर साबित होगा?

ये भी पढ़ें: कौन हैं संघप्रिय गौतम और लोकसभा चुनाव से ठीक पहले उनके इस बयान का क्या मतलब है?

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi