S M L

पुलवामा हमला: झारखंड के गुमला के बेटे विजय सोरेंग शहीद, भाई का रो रोकर बुरा हाल

विजय के शहीद होने की खबर से गांव में मातम पसर गया है, शहीद जवान के भाई संजय सोरेंग ने कहा कि उन्हें इस हमले की सूचना टीवी से मिली, घर में गमगीन माहौल है, लेकिन हम लोगों को अपने भाई पर गर्व है कि उन्होंने देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी

Updated On: Feb 15, 2019 11:00 AM IST

FP Staff

0
पुलवामा हमला: झारखंड के गुमला के बेटे विजय सोरेंग शहीद, भाई का रो रोकर बुरा हाल

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में झारखंड के एक बेटे शहीद हो गए हैं. विजय सोरेंग गुमला के बसिया थाना इलाके के फरसामा गांव के रहने वाले थे. विजय के शहीद होने की खबर से गांव में मातम पसर गया है. शहीद जवान के भाई संजय सोरेंग ने कहा कि उन्हें इस हमले की सूचना टीवी से मिली. घर में गमगीन माहौल है, लेकिन हम लोगों को अपने भाई पर गर्व है कि उन्होंने देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी. शहीद विजय सोरेंग की पत्नी जैप की जवान हैं और रांची में तैनात हैं.

पूरा देश शहीद जवानों के परिजनों के साथ है

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस हमले की निंदा करते हुए इसे कायराना हरकत करार दिया. उन्होंने ट्वीट किया कि दुख की इस घड़ी में पूरा देश शहीद जवानों के परिजनों के साथ है. देश अपने जवानों की शहादत का बदला जरूर लेगा. इधर रांची के अलबर्ट एक्का चौक पर राष्ट्रीय युवा शक्ति नामक संगठन ने हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी और आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देने की सरकार से मांग की. बाद में आतंकियों के खिलाफ प्रदर्शन भी किया गया. बता दें कि सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले में अब तक 40 जवानों के शहीद होने की खबर है.

हमले में करीब 350 किलो IED का इस्तेमाल हुआ

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा स्थित अवन्तीपुरा के गोरीपुरा इलाके में उस वक्त यह हमला हुआ, जब सीआरपीएफ (CRPF) का काफिला गुजर रहा था. सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले में करीब 350 किलो IED का इस्तेमाल हुआ. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली और इसे आत्मघाती हमला बताया. जवानों के नाम जारी किए जाने में देरी की वजह कई शवों का क्षत विक्षत होना है, इस वजह से उनकी पहचान में देरी हुई. सूत्र बता रहे हैं कि इस आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों का आंकड़ा 41 के करीब पहुंच गया है. हालांकि आधिकारिक तौर पर सीआरपीएफ ने 37 जवानों के शहीद होने की पुष्टि की है.

सीआरपीएफ के जवानों को ले जा रही बस को निशाना बनाया गया

रक्षा अधिकारी ने हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है. उधर, पीएम नरेंद्र मोदी सहित कई राजनेताओं ने हमले की निंदा की है. रिपोर्ट के अनुसार उरी के बाद यह सबसे बड़ा आतंकी हमला है. घायलों का श्रीनगर स्थित सेना के अस्‍पताल में इलाज चल रहा है. सीआरपीएफ के जवानों को ले जा रही बस को मुख्‍य रूप से निशाना बनाया गया था. हमले में कई अन्‍य वाहन भी क्षतिग्रस्‍त हुए हैं. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाकर किए गए आईईडी विस्फोट की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है.

 

(साभार- न्यूज 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi