S M L

भारत बंद: प्रदर्शनकारियों ने पेश की मानवता की मिसाल, मरीज के लिए रोका आंदोलन

अर्धनग्न प्रदर्शनकारियों के जाम के कारण गंभीर रूप से बीमार एक मरीज को लिए जा रही एंबुलेंस अशोक लॉट तिराहे के पास जाम में फंस गई थी.

Updated On: Sep 07, 2018 03:21 PM IST

FP Staff

0
भारत बंद: प्रदर्शनकारियों ने पेश की मानवता की मिसाल, मरीज के लिए रोका आंदोलन
Loading...

सवर्णों के जरिए बुलाए गए भारत बंद का असर देश के कई हिस्सों में देखने को मिला. अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एससी/एसटी एक्ट) में संशोधन का विरोध के लिए लोगों ने कई जगह बाजार बंद रखे तो वहीं लोगों के जाम के कारण यातायात भी बाधित देखने को मिला. लेकिन इस बीच मानवता की भी मिसाल बंद के दौरान देखने को मिली.

दरअसल, उत्तर प्रदेश के बांदा जिला मुख्यालय में SC/ST एक्ट में संशोधन का विरोध कर रहे सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने जाम लगा दिया था. जिसके कारण इस जाम में एक मरीज को ले जा रही एंबुलेंस भी फंस गई. लेकिन मरीज की जान बचाने के लिए प्रदर्शनकारियों ने मानवता को तरजीह दी और एंबुलेंस को जाने के लिए रास्ता दिया.

अपर पुलिस अधीक्षक लाल भरत कुमार पाल के मुताबिक गुरुवार को नारेबाजी कर रहे अर्धनग्न प्रदर्शनकारियों के जाम के कारण गंभीर रूप से बीमार एक मरीज को लिए जा रही एंबुलेंस अशोक लॉट तिराहे के पास जाम में फंस गई थी. लेकिन प्रदर्शनकारियों ने मानवता दिखाते हुए जहां एक तरफ एंबुलेंस को जाने के लिए रास्ता दिया, वहीं कुछ देर के लिए नारेबाजी भी बंद कर दी, ताकि मरीज को शोर के कारण किसी तरह की कोई समस्या न हो.

बंद का दिखा मिला-जुला

नगर मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार के मुताबिक करीब 600 अर्धनग्न प्रदर्शनकारियों ने एससी/एसटी एक्ट बिल पास किए जाने के विरोध में उन्हें ज्ञापन सौंपा है. वहीं उनका कहना था कि बांदा जिला मुख्यालय में भारत बंद का मिला-जुला असर देखने को मिला.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi