S M L

आपत्तिजनक बयान देने पर राजस्थान के गृहमंत्री का राज्यसभा में विरोध

राजस्थान में के एक मंत्री महिलाओं और बच्चियों के बारे में गैर जिम्मेदाराना बयान देते हैं.

Updated On: Mar 30, 2017 03:26 PM IST

Bhasha

0
आपत्तिजनक बयान देने पर राजस्थान के गृहमंत्री का राज्यसभा में विरोध

राज्यसभा में गुरूवार को विभिन्न दलों की महिला सदस्यों ने राजस्थान के गृहमंत्री के एक कथित बयान पर आपत्ति जताते हुए उन्हें पद से हटाए जाने की मांग की.

इस मुद्दे पर हंगामे के कारण शून्यकाल में सदन की कार्यवाही एक बार 10 मिनट के लिए स्थगित भी करनी पड़ी.

शून्यकाल में जेडीयू सदस्य कहकशां परवीन ने राजस्थान के गृहमंत्री के कथित बयान का मुद्दा उठाने की कोशिश की लेकिन उपसभापति पीजे कुरियन ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी और कहा कि इसके लिए उन्हें पहले नोटिस देना चाहिए.

अनुमति नहीं मिलने के बाद कहकशां परवीन और विपक्ष की कुछ अन्य महिला सदस्य आसन के नजदीक आ गयीं. इसके बाद कांग्रेस के भी कुछ सदस्य आसन के नजदीक आ गए और मंत्री को बर्खास्त करने की मांग करने लगे.

हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही 11 बजकर करीब 25 मिनट पर 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी गयी.

बाद में  उपसभापति की अनुमति से कहकशां परवीन ने यह मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री 'बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ पर जोर देते हैं, वहीं राजस्थान में उनकी ही पार्टी के एक मंत्री महिलाओं और बच्चियों के बारे में गैर जिम्मेदाराना बयान देते हैं.

दोषी मंत्री पर एक बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले में आपत्तिजनक बयान देने का मामला सामने आया है.

उन्होंने कहा कि राजस्थान में मुख्यमंत्री भी महिला हैं और उन्हें इस बारे में गौर करना चाहिए. जेडीयू सदस्य ने मंत्री को पद से हटाए जाने की मांग की. सदन में कई सदस्यों ने इस मुद्दे पर सहमति जतायी.

संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि, 'अगर अखबार में छपी बात सही है तो यह निंदनीय बयान है और ऐसे किसी बयान को सही नहीं ठहराया जा सकता है. उन्होंने कहा कि वह राज्य सरकार को सदन की भावना से अवगत करा देंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi