S M L

K9 वज्र हॉवित्जर तोप में बैठे PM मोदी, जानें इस तोप के बारे में खास बातें

इन तोपों की खासियत यह है कि अगर दुश्मन काफी ऊंचाई पर भी बैठा हो, तो भी उसे निशाने पर लिया जा सकता है

Updated On: Jan 19, 2019 05:30 PM IST

FP Staff

0
K9 वज्र हॉवित्जर तोप में बैठे PM मोदी, जानें इस तोप के बारे में खास बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने गुजरात दौर के दूसरे दिन हजीरा पहुंचे. यहां उन्होंने K9 वज्र हॉवित्जर तोप का जायजा लिया. उन्होंने इस शानदार मारक क्षमता वाली तोप की सवारी भी की. K9 वज्र हॉवित्जर तोपें पिछले साल ही भारतीय सेना के बेड़े में शामिल हुई हैं. इन सेल्फ प्रोपेल्ड हॉवित्जर तोपों को लार्सन एंड टर्बो कंपनी ने बनाया है.

क्या है इन तोपों की खासियत?

बोफोर्स तोप के बाद भारतीय सेना को 30 वर्षों के बाद यह तोप मिली हैं. दुश्मन देशों की तरफ से बढ़ रही चुनौतियों के बीच इन तोपों का भारतीय सेना में शामिल होने से सेना की ताकत और बढ़ गई है. पाकिस्तान से करगिल युद्ध के समय ही इन तोपों की जरूरत महसूस की गई थी. अब इतने सालों बाद सेना की यह जरूरत पूरी हो गई है.

इन तोपों की खासियत यह है कि अगर दुश्मन काफी ऊंचाई पर भी बैठा हो, तो भी उसे निशाने पर लिया जा सकता है. K9 तोपों की यह खासियत है कि इनकी रेंज 28-30 किलोमीटर है. ये 30 सेकेंड में तीन गोले दागने में सक्षम हैं. जिसका निशाना लगभग अचूक है.

पिछले साल नवंबर महीने में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने बताया था कि K9 वज्र को 4,366 करोड़ रुपए की लागत से शामिल किया गया है. उन्होंने बताया था कि साल 2020 तक भारतीय बेड़े में कुल 100 K9 होवित्जर तोपें होंगी. जो कि भारतीय सेना को और मजबूती प्रदान करेंगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi