S M L

बिम्स्टेक बैठक: दो दिवसीय यात्रा पर बुधवार को नेपाल जाएंगे पीएम मोदी

सात देश के इस समूह में सार्क के पांच देश-बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल और श्रीलंका शामिल हैं. इनके अलावा आसियान के दो देश म्यांमार और थाईलैंड भी इसके सदस्य हैं

Updated On: Aug 29, 2018 04:36 PM IST

FP Staff

0
बिम्स्टेक बैठक: दो दिवसीय यात्रा पर बुधवार को नेपाल जाएंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पड़ोसी देश नेपाल में 30-31 अगस्त को हो रहे 'बे ऑफ बंगाल इनीशिएटिव फॉर मल्टी-सेक्टोरल टेक्निकल एंड इकोनॉमिक को-ऑपरेशन' (बिम्सटेक) की बैठक में हिस्सा लेने जा रहे हैं.

इस बैठक में सदस्य देशों के बीच आतंकवाद सहित सुरक्षा के विविध आयाम, मादक पदार्थो की तस्करी, साइबर अपराध, आपदाओं के अलावा कारोबार एवं कनेक्टिविटी से जुड़े विषयों पर चर्चा होगी और आपसी सहयोग मजबूत बनाने पर जोर दिया जायेगा.

सात देश के इस समूह में सार्क के पांच देश-बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल और श्रीलंका शामिल हैं. इनके अलावा आसियान के दो देश म्यांमार और थाईलैंड भी इसके सदस्य हैं.

विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, आतंकवाद से मुकाबला सभी बिम्सटेक देशों के लिए बहुत महत्वपूर्ण विषय है. गोवा में साल 2016 में संपन्न बिम्सटेक आउटरीच सम्मेलन में जारी घोषणापत्र में आतंकवाद से मुकाबले पर विचार विमर्श हुआ था. उस बैठक में जोर दिया गया था कि आतंकवादी गतिविधियों को किसी भी तरह से जायज नहीं ठहराया जा सकता.

उन्होंने कहा कि आतंकवाद का विषय तब से राष्ट्रीय सुरक्षा प्रमुखों तथा अन्य क्षेत्रीय बैठकों में चर्चा से संबंधित महत्वपूर्ण विषय बना हुआ है.

पिछली बैठक में बिम्सटेक नेताओं ने आतंकवाद की निंदा करते हुए कहा था कि आतंकवादियों, आतंकवादी संगठनों और नेटवर्क के खात्मे और उन्हें प्रोत्साहन, समर्थन, वित्तीय सहयोग और सुरक्षित पनाह देने वाले देशों की जवाबदेही तय करने और उनके खिलाफ कठोर कदम उठाने की जरूरत है.

बिम्सटेक बैठक से इतर प्रधानमंत्री समूह के देशों के साथ द्विपक्षीय बैठक एवं चर्चा भी कर सकते हैं.

नेपाल में भारत के राजदूत ने इस पर बोलते हुए कहा कि जबसे नई सरकार बनी है. नेपाल के पीएम कई बार भारत आए हैं और पीएम मोदी ने कई नेपाल यात्रा की है. अब वह दोबारा आ रहे हैं. तो मेरे लिए, यह अच्छे संबंधों की गवाही है और हम उन्हें मजबूत करने के लिए कैसे काम कर रहे हैं.

आगे बोलते हुए उन्होंने कहा 'हमारे पास पड़ोस की पहली नीति है और नेपाल उसमें बिल्कुल फिट बैठता है. हमारा उद्देश्य सबका साथ सबका विकास है और नेपाल की नई सरकार का उद्देश्य समृद्ध नेपा, सुखी नेपाल है. यह बहुत अच्छा है कि पीएम दोबारा आ रहे हैं.'

बैठक 30 अगस्त को शुरू हो रही है जिसमें समूह के नेता संयुक्त बैठक करेंगे. इसी दिन दोपहर में पूर्ण सत्र होगा. इस दिन रात्रि में सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं रात्रि भोज होगा. अगले दिन 31 अगस्त को सदस्य देशों के नेताओं की मुलाकात एवं बैठकें होगी. दोपहर बाद विम्सटेक का समापन सत्र होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi