S M L

पुलवामा हमले पर बोले प्रधानमंत्री मोदी: अब बातचीत का समय निकल चुका है

अर्जेंटीना के राष्ट्रपति ने भी पुलवामा हमले की निंदा करते हुए कहा कि उन्हें आतंकवाद के खिलाफ लड़ने में खुशी होगी

Updated On: Feb 18, 2019 02:59 PM IST

FP Staff

0
पुलवामा हमले पर बोले प्रधानमंत्री मोदी: अब बातचीत का समय निकल चुका है

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मॉरिसियो मैक्री के साथ दिल्ली स्थित हैदराबाद हाउस में एक संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने दोनों देशों के बीच होने वाले समझौतों पर चर्चा की. साथ ही हाल ही में पुलवामा में CRPF पर हुए हमले पर भी अपने विचार साझा किए.

प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान आतंकवाद और इसके खिलाफ लड़ने वालों को एकजुट होने का आहवान किया. साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकवाद पर अब बातचीत का समय निकल चुका है. प्रधानमंत्री मोदी ने चेतवानी भरे लहजे में कहा, 'मैं और राष्ट्रपति माक्री, इस बात पर सहमत हैं कि आतंकवाद वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए बहूत गंभीर खतरा है. पुलवामा में हुआ क्रूर आतंकवादी हमला, यह दिखाता है कि अब बातों का समय निकल चुका है.

आतंकवाद के खिलाफ एक हो कर लड़ें सभी देश

आतंकवाद के खिलाफ विश्व भर को एक होने की बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'अब सारी दुनिया को आतंकवाद और उसके समर्थकों के विरुद्ध एकजुट होकर ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है. आतंकवादियों और उसके मानवता विरोधी समर्थकों के खिलाफ कार्यवाही से हिचकना भी आतंकवाद को बढ़ावा देना है.'

इस प्रेस वार्ता में प्रधानमंत्री मोदी ने भारत और अर्जेंटीना के बीच समझौतों पर भी अपने विचार साझा किए. उन्होंने कहा, 'भारत और अर्जेंटीना कई मायनों में एक दूसरे के पूरक हैं. हमारा यह प्रयास है कि आपसी हित के लिए इनका पूरा लाभ उठाया जाए. अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग के क्षेत्र में हमारा सहयोग लगातार बढ़ रहा है. Defence Cooperation के संबंध में आज जिस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए हैं, वह रक्षा क्षेत्र में हमारे सहयोग को एक नया स्वरुप देगा.'

आतंक के खिलाफ लड़ने में होगी खुशी

इस वार्ता में अर्जेंटीना के राष्ट्रपति ने भी पुलवामा में हुए आतंकी हमले की आलोचना की. उन्होंने कहा, 'मैं कुछ दिनों पहले पुलवामा में हुए क्रूर हमले के पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करना चाहता हूं. हम हर तरह के आतंकवादी हमले की निंदा करते हैं. हमें वास्तव में मानव जाति पर इस संकट से लड़ने के लिए मिलकर काम करने में काफी खुशी होगी.'

गौरतलब है कि 14 फरवरी के दिन जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने आत्मघाती हमला किया था. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की दुनिया भर में कड़ी आलोचना और निंदा की जा रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi