S M L

बापू की 150वीं जयंती को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाना चाहते हैं राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने बापू की जयंती मनाने के लिए संयुक्त राष्ट्र जैसी संस्थाओं के साथ काम करने की वकालत की

Updated On: May 03, 2018 12:25 PM IST

Bhasha

0
बापू की 150वीं जयंती को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाना चाहते हैं राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को एक वैश्विक समारोह बनाने के लिए संयुक्त राष्ट्र जैसी संस्थाओं के साथ काम करने की वकालत की.

राष्ट्रपति कोविंद ने गुरुवार को कहा कि आतंकवाद और हिंसा का सामना कर विश्व में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का ‘अहिंसा’ का सिद्धांत गैर करने लायक है. राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती मनाने के लिए बनी राष्ट्रीय समिति की पहली बैठक की अध्यक्षता करते हुए कोविंद ने कहा, ‘महात्मा गांधी भारत की आत्मा की आवाज थे. महात्मा हमारा अतीत हैं, वह हमारा वर्तमान हैं और हमारा भविष्य भी हैं.

उन्होंने कहा कि अहिंसा का सिद्धांत आज की इस दुनिया में बहुत प्रासंगिक है, जो आतंकवाद और अन्य संघर्षों के रूप में हिंसा का सामना कर रही है. राष्ट्रपति ने कहा, ऐसे समय में महात्मा गांधी के सिद्धांत और मूल्य धरती के बेहतर भविष्य के लिए रास्ता दिखा सकते हैं.

उन्होंने कहा कि गांधी का जन्म भारत में हुआ लेकिन वह केवल भारत से ही संबंध नहीं रखते थे और उनके नाम की गूंज सभी देशों में सुनने को मिलती है. कोविंद ने कहा, ‘महात्मा गांधी अहिंसक, समावेशी और लोकतांत्रिक स्वतंत्रता संग्राम के लिए प्रेरणा थे.’

कोविंद ने कहा, ‘महात्मा सभी देशों में हम सभी लोगों के लिए महत्वपूर्ण बने रहेंगे. विश्व को 21वीं सदी के निर्माण में उनके विचारों को सम्मिलित करने की जरूरत है जो न्याय और समानता, शांति और ज्ञान और गरीबी खत्म करने के लिए उल्लेखनीय है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi