S M L

एयरपोर्ट की तरह रेलवे स्टेशन की सुरक्षा होगी कड़ी, ट्रेन चलने से 20 मिनट पहले पहुंचना जरूरी

अरुण कुमार ने कहा, 'प्रत्येक प्रवेश बिंदु पर रेंडम सुरक्षा जांच होगी. बहरहाल, हवाईअड्डों के उलट यात्रियों को घंटों पहले आने की जरूरत नहीं होगी बल्कि डिपार्चर समय से केवल 15-20 मिनट पहले आना होगा

Updated On: Jan 06, 2019 04:00 PM IST

FP Staff

0
एयरपोर्ट की तरह रेलवे स्टेशन की सुरक्षा होगी कड़ी, ट्रेन चलने से 20 मिनट पहले पहुंचना जरूरी

रेलवे अब सील स्टेशन बनाने की योजना बना रही है. मतलब ऐसे रेलवे स्टेशन जहां सिक्योरिटी चेक के लिए यात्रियों को ट्रेन चलने से 15-20 मिनट पहले पहुंचना होगा.

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के डायरेक्टर जनरल अरुण कुमार ने पीटीआई को बताया कि कुंभ मेले के मद्देनजर हाई टेक्नोलॉजी वाले सिक्योरिटी प्लान को फिलहाल रेलवे ने इलाहाबाद में इस्तेमाल किया है. इसके अलावा कर्नाटक का हुबली स्टेशन पर भी रेलवे ने सिक्योरिटी के खाम इंतजाम किए हैं. अब आगे रेलवे के पास 202 स्टेशन पर इसे लागू करने का ब्लू प्रिंट तैयार है.

आगे बोलते हुए उन्होंने बताया, 'योजना रेलवे स्टेशनों को सील करने की है. यह मुख्यत: प्रवेश बिंदुओं की पहचान करने और कितनों को बंद रखा जा सकता है यह निर्धारित करने के संबंध में है. कुछ इलाके हैं जिन्हें स्थाई सीमा दीवारें बनाकर बंद कर दिया जाएगा, अन्य पर आरपीएफ कर्मियों की तैनाती होगी और उसके बाद बचे बिंदुओं पर बंद हो सकने वाले गेट होंगे.

कुमार ने कहा, 'प्रत्येक प्रवेश बिंदु पर रेंडम सुरक्षा जांच होगी. बहरहाल, हवाईअड्डों के उलट यात्रियों को घंटों पहले आने की जरूरत नहीं होगी बल्कि डिपार्चर समय से केवल 15-20 मिनट पहले आना होगा ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सुरक्षा प्रक्रिया के चलते देरी न हो. सुरक्षा बढ़ेगी, लेकिन सुरक्षाकर्मियों की संख्या नहीं.' उन्होंने कहा कि अगर हम नई टोक्नोलॉजी की इस्तेमाल करें तो ज्यादा लोगों की जरूरत नहीं होगी.

इसमें प्रत्येक यात्री को इस प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा. 8-9 यात्रियों में से किसी एक को इस सिक्योरिटी चेक के प्रोसेस से गुजरना होगा.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi