विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

प्रद्युम्न मर्डर केस: CBI ने खंगाला आरोपी छात्र के इंटरनेट सर्फिंग का रिकॉर्ड

आरोपी छात्र के आवास से कंप्यूटर का एक हार्ड डिस्क, मोबाइल फोन और कुछ अन्य उपकरण जब्त किए थे, जिनकी जांच से उसकी सर्फिंग की आदत को समझा जा रहा है

Bhasha Updated On: Nov 14, 2017 10:01 PM IST

0
प्रद्युम्न मर्डर केस: CBI ने खंगाला आरोपी छात्र के इंटरनेट सर्फिंग का रिकॉर्ड

रायन स्कूल में पढ़ने वाले दूसरी कक्षा के छात्र प्रदुयम्न की हत्या के मामले में गिरफ्तार 11वीं के छात्र की इंटरनेट सर्फिंग का रिकॉर्ड सीबीआई ने चेक किया. उसकी सोच के बारे में जानने के लिए जांच एजेंसी ने ये काम किया.

सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसी ने आरोपी छात्र के आवास से कंप्यूटर का एक हार्ड डिस्क, मोबाइल फोन और कुछ अन्य उपकरण जब्त किए थे, जिनकी विषय वस्तु का विश्लेषण किया जा रहा था ताकि उसकी सर्फिंग आदतों को समझा जा सके.

सूत्रों ने बताया कि इसका मकसद यह पता लगाना था कि 16 वर्षीय पियानो के छात्र ने पैरेंट-टीचर मीटिंग (पीटीएम) और परीक्षा टालने के लिए दूसरी कक्षा के छात्र की हत्या जैसा खतरनाक कदम क्यों उठाया.

उन्होंने कहा कि एजेंसी ने 28 सितंबर को लड़के के आवास पर छापेमारी की थी लेकिन इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी ताकि कोई कयास लगा सके कि वह मामले में मुख्य आरोपी के तौर पर उभर रहा है.

आरोपी छात्र की सर्फिंग की आदतों को समझने की कोशिश

किशोर के पिता ने बताया कि उन्होंने एक हार्ड डिस्क, एक मोबाइल फोन और कुछ अन्य गजट जब्त किए. उन्होंने कोई संकेत नहीं दिया कि वे उसकी भूमिका की जांच कर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि सीबीआई उनके बेटे को फंसा रही है. उन्होंने कहा कि अगर किसी छात्र पर दोष मढ़ा जाएगा तो स्कूल प्रबंधन मुआवजा नहीं देगा लेकिन अगर स्कूल के किसी कर्मचारी पर दोष जाता है, तो स्कूल प्रबंधन को मुआवजा देना होगा.

उन्होंने कहा कि सीबीआई को पता नहीं है कि स्कूल बस कंडक्टर अशोक कुमार कहां है. उन नौ मिनट में वह कहां था? उन्होंने सीबीआई पर आरोप लगाए कि स्वीकारोक्ति के लिए वह उनके बेटे का उत्पीड़न कर रही है.

उन्होंने कहा कि सीबीआई मुख्यालय में जहां उससे पूछताछ की जा रही थी उस कमरे में मुझे नहीं जाने दिया गया. मुझे बाहर इंतजार करने के लिए कहा गया. वह 16 वर्ष का छात्र है जो एजेंसी को सच्चाई सामने लाने में मदद कर रहा है और अब वह आरोपी हो गया. सीबीआई ने अपनी कहानी गढ़ी है और अब इसे सही साबित करने के लिए चीजों को जोड़ रही है. हालांकि केंद्रीय जांच एजेंसी ने इन आरोप से इंकार कर दिया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi