S M L

पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह हत्या के मामले में दोषी करार, 23 को सजा का एलान

22 साल पहले विधायक अशोक सिंह की हत्या का मामला

Updated On: May 18, 2017 12:53 PM IST

FP Staff

0
पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह हत्या के मामले में दोषी करार, 23 को सजा का एलान

झारखंड के हजारीबाग की एक अदालत ने हत्या के मामले में पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को दोषी ठहराया है. यह 22 साल पहले बिहार की सारण जिले की मसरख सीट से विधायक अशोक सिंह की हत्या का मामला है.

प्रभुनाथ सिंह महाराजगंज के पूर्व सांसद और मसरख के पूर्व विधायक रहे हैं. मामले में सजा का एलान 23 मई को किया जाएगा. उनके भाई दीनानाथ सिंह को भी दोषी पाया गया है.

अशोक की पटना में उनके घर पर 3 जुलाई 1995 को बम मारकर हत्या कर दी थी. घटना में अशोक से मिलने आए अनिल कुमार सिंह की भी मौत हो गई थी.

मामले में प्रभुनाथ के अलावा उनके भाई दीनानाथ सिंह को आरोपी बनाया गया था. इसके अलावा जांच में प्रभुनाथ के भाई केदार सिंह, रितेश सिंह और सुधीर सिंह का भी नाम सामने आया.

1997 में पटना हाई कोर्ट के निर्देश पर मामले को पटना से हजारीबाग ट्रांसफर कर दिया गया था.

प्रभुनाथ सिंह जेडीयू से महाराजगंज के सांसद थे. बाद में वह आरजेडी में आ गए. प्रभुनाथ सिंह एक जमाने में नीतीश कुमार के बेहद करीबी थे और बाद में लालू प्रसाद यादव के नजदीक आए. उनकी पहचान दबंग नेता के रूप में है. बिहार में सरकार किसी की भी हो, प्रभुनाथ सिंह और उनके करीबी हमेशा यही कहते नजर आते कि सारण के सीएम प्रभुनाथ सिंह हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi