S M L

ओडिशा में बंदी के कगार पर डाक प्रिंटिंग प्रेस, चालू रखने की मांग तेज

मनचेश्वर इंडस्ट्रियल इलाके में डाक प्रिंटिंग प्रेस को नीतिगत फैसले के तहत बंद करने का फैसला किया गया है

Updated On: Jun 01, 2018 05:19 PM IST

Bhasha

0
ओडिशा में बंदी के कगार पर डाक प्रिंटिंग प्रेस, चालू रखने की मांग तेज

देश में डाक विभाग की एकमात्र प्रिंटिंग प्रेस को बंद करने के केंद्र के कदम पर फिर से विचार करने का अनुरोध किया गया है. ओडिशा सर्किल के चीफ पोस्ट मास्टर जनरल (सीपीएमजी) ने सरकार से फैसले पर फिर से विचार करने को कहा है.

सीपीएमजी (ओडिशा सर्किल) संतोष कुमार कामिला ने बताया कि मनचेश्वर इंडस्ट्रियल इलाके में डाक प्रिंटिंग प्रेस को नीतिगत फैसले के तहत बंद करने का फैसला किया गया है. उन्होंने कहा कि सचिवों की कमेटी की सिफारिश के बाद यह कदम उठाया गया.

कामिला ने कहा, ‘संचार मंत्रालय प्रेस को बंद करने की मांग की गई है लेकिन हमारी कुछ मजबूरी है. हमने उनसे इस बारे में फिर सोचने और इसे जारी रखने की इजाजत मांगी है.’

उन्होंने कहा कि दो महीने में प्रिंटिंग प्रेस को बंद करने का प्रस्ताव है. सीपीएमजी ने कहा कि फिलहाल यह देश का एकमात्र डाक प्रिंटिंग प्रेस है और विभाग को अपनी जरूरतें पूरा करने के लिए इसकी जरूरत है. अधिकारियों ने बताया कि इसकी स्थापना 1986 में हुई थी. यहां डाक मटीरियल के अलावा, चुनावी बैलट पेपर, मनरेगा बुकलेट और उज्जवला पासबुक छपाई का काम होता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi