S M L

दिल्ली में प्रदूषणः एयर क्वालिटी फिर हुई गंभीर, ECPA 48 घंटों तक स्थिति पर रखेगी कड़ी नजर

पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) के अध्यक्ष भूरेलाल ने बताया कि स्थिति की निगरानी रखी जा रही है और अगर गंभीर स्थिति 48 घंटे तक जारी रहती है तब कड़ी कार्रवाई की जाएगी, साथ ही क्रमिक प्रतिक्रिया कार्य योजना लागू की जाएगी

Updated On: Dec 11, 2018 09:45 AM IST

FP Staff

0
दिल्ली में प्रदूषणः एयर क्वालिटी फिर हुई गंभीर, ECPA 48 घंटों तक स्थिति पर रखेगी कड़ी नजर

दिल्ली की वायु गुणवत्ता मंगलवार को भी गंभीर स्थिति में पहुंच गई. खबर है कि हवा की स्थिरता से प्रदूषण का फैलाव रूक जाने के कारण आगे यह और खराब होगी. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) के अध्यक्ष भूरेलाल ने बताया कि स्थिति की निगरानी रखी जा रही है और अगर गंभीर स्थिति 48 घंटे तक जारी रहती है तब कड़ी कार्रवाई की जाएगी. साथ ही क्रमिक प्रतिक्रिया कार्य योजना लागू की जाएगी.

नोएडा की वायु गुणवत्ता सबसे खराब श्रेणी में दर्ज की गई

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड या सीपीसीबी ने समग्र वायु गुणवत्ता इंडेक्स (एक्यूआई) 412 दर्ज किया गया है जो गंभीर श्रेणी में आता है. सीपीसीबी के आंकड़े के मुताबिक, गाजियाबाद, नोएडा और फरीदाबाद में भी वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में आ गई है. नोएडा की वायु गुणवत्ता सबसे खराब श्रेणी में दर्ज की गई और यहां का एक्यूआई 452 रहा. 201 और 300 के बीच के एक्यूआई को खराब, 301 और 400 के बीच को बहुत खराब और 401 और 500 एक्यूआई को गंभीर माना जाता है. सीपीसीबी के मुताबिक, दिल्ली में 19 इलाकों में वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में और 10 इलाकों में बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई.

अगले दो दिनों में दिल्ली की कुल वायु गुणवत्ता और खराब होगी

सीपीसीबी के अनुसार अगर लगातार दो दिनों तक पीएम 2.5 स्तर प्रति घन मीटर 300 माइक्रोग्राम रहता है और पीएम 10 स्तर प्रति घन मीटर 500 माइक्रोग्राम से ऊपर रहता है तो शहर में निर्माण गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि वह स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं. इसमें बताया गया है कि कुल पीएम 2.5 स्तर 257 और पीएम 10 स्तर 445 दर्ज किया गया. केंद्र सरकार की तरफ से संचालित वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) ने कहा कि अगले दो दिनों में दिल्ली की कुल वायु गुणवत्ता और खराब होगी. इसमें बताया गया है, कल तक वायु में इसी तरह की सीमा रहने की संभावना है जो बुधवार से कम होगी.

अगर बारिश होती है तो वायु गुणवत्ता में बुधवार से सुधार हो सकता है

जमीन पर बहने वाली शांत हवा प्रदूषक तत्वों को आगे नहीं ले जा पा रही है. सफर ने कहा, हवा शांत है और बिखराब कम है. पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव नमी के साथ और हवा को भारी बनाकर दिल्ली की वायु गुणवत्ता को प्रभावित कर सकता है. तापमान में अपेक्षित गिरावट और मध्यम स्तर की धुंध से आगामी दो दिनों में प्रदूषण बढ़ने की आशंका है और यह बहुत खराब के ऊपरी श्रेणी तक रह सकता है. सफर ने कहा कि अगर पर्याप्त मात्रा में बारिश होती है तो वायु गुणवत्ता में बुधवार से सुधार हो सकता है. बता दें कि दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में हल्की बारिश होने की संभावना व्यक्त की गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi