S M L

हिंसा की राजनीति करना वामपंथियों के स्वभाव में है: अमित शाह

शाह ने कहा 'डराने-धमकाने की कोई भी सीमा, वाम-शासित राज्य में कमल को खिलने से रोक नहीं सकती'

Updated On: Oct 08, 2017 04:20 PM IST

Bhasha

0
हिंसा की राजनीति करना वामपंथियों के स्वभाव में है: अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह केरल में हो रही राजनीतिक हिंसा के लिए सीपीएम पर खूब बरसे और उन्हों‍ने कहा कि 'हिंसा की राजनीति' वामपंथियों के स्वभाव में ही है.

केरल में 'वाम नृशंसता' को अंकित करने के लिए बीजेपी के अभियान ‘जन रक्षा यात्रा’ की दिल्ली इकाई को संबोधित करते हुए शाह ने इस बात पर जोर दिया कि डराने-धमकाने की कोई भी सीमा, वाम-शासित राज्य में कमल को खिलने से रोक नहीं सकती.

उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि ज्यादातर बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं की हत्या उनके गृह जिले में हुई है.

शाह ने कहा, 'केरल में जब से वाम दल सत्ता में आया है, तब से अनेक बीजेपी और संघ (आरएसएस) कर्मचारियों की हत्या हुई है. यह हत्याएं बेहद नृशंस तरीके से की गई हैं, शवों को टुकड़ों में काटा गया है. यह उन लोगों को धमकाने के लिए किया गया है जो बीजेपी का समर्थन करते हैं, यह बताने के लिए कि उनके साथ भी ऐसा ही किया जाएगा. पर वह हत्या का जितना गंदा खेल खेलेंगे, कमल उतना ही बेहतर खिलेगा.'

इसके अलावा शाह के नेतृत्व में मध्य दिल्ली के कनाट प्लेस से गोल मार्केट इलाके में सीपीएम मुख्यालय तक एक जुलूस भी निकाला गया. दिल्ली के बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी, केंद्रीय मंत्री अल्फोंस कन्नथानम और पार्टी के लोकसभा सांसद इस जुलूस में शामिल थे.

शाह ने केरल के कन्नूर जिले में तीन अक्टूबर से ‘जन रक्षा यात्रा’ की शुरुआत की जिसका समापन 17 अक्टूबर को तिरुवनंतपुरम में किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi