live
S M L

PNB फ्रॉड केस : जांच एजेंसियों के निशाने पर चढ़े हीरा कारोबारी

हाल फिलहाल लोन डिफॉल्ट की जितनी घटनाएं सामने आई हैं, उनमें ज्यादातर हीरा कारोबार से जुड़ी हैं

Updated On: Feb 18, 2018 05:09 PM IST

Bhasha

0
PNB फ्रॉड केस : जांच एजेंसियों के निशाने पर चढ़े हीरा कारोबारी

गुजरे जमाने की बात हो गई जब हीरा सिर्फ महिलाओं की पसंद होता था. हीरा अब घोटालेबाजों की बड़ी पसंद बनकर उभरा है. तभी पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद जांच एजेंसियों ने हीरा और घोटालेबाजों के बीच के नेक्सस को खंगालना शुरू कर दिया है.

कैपिटल मार्केट पर नजर रखने वाले सेबी ने मोदी से जुड़े कारोबार और गीतांजलि जेम्स के मालिक मुकुल चोकसी के बीच संदिग्ध डील की खोजबीन शुरू कर दी है. एक सीनियर अधिकारी की मानें तो हीरा कारोबारी और स्टॉक मार्केट के दलालों के बीच नेक्सस पर भी पैनी नजर रखी जा रही है.

सेबी, कॉरपोरेट मंत्रालय की जांच शुरू

कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय ने रजिस्टर्ड कंपनियों और उसके डायरेक्टरों की भी पड़ताल शुरू की है जिनके रिश्ते नीरव मोदी और चोकसी से बताए जा रहे हैं. ऐसी दर्जनों कंपनियां हैं जिनके इनसे रिश्ते उजागर हुए हैं. इसके अलावा मंत्रालय ने 150 शेल कंपनियों की जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, भारत में कम से कम चार रजिस्टर्ड कंपनियां और एलएलपी (सीमित दायित्व भागीदार) हैं जहां नीरव मोदी डायरेक्टर है. हालांकि उसने यह पद ग्रहण नहीं किया है. जिन कंपनियों में मोदी डायरेक्टर है उनके नाम हैं-फायरस्टार डायमंड प्रा. लि., फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल प्रा. लि., राधाशीर जूलरी कंपनी और जूलरी सॉल्यूशन इंटरनेशनल.

चार एलएलपी जिनसे नीरव मोदी जुड़ा है, उनके नाम हैं-पांचजन्य डायमंड्स एलएलपी, नीशाल इंटरप्राइजेज एलएलपी, पैरागॉन जूलरी एलएलपी और पैरागॉन मर्चेंडाइजिंग.

सिर्फ हीरा कारोबार में घोटाला क्यों

यह कोई पहला मामला नहीं है जिसमें हीरा कारोबार को घोटाले से जोड़ कर देखा जा रहा है. सेबी उन मामलों की भी जांच कर रहा है जो स्टॉक मार्केट की धोखाधड़ी से जुड़े हैं.

दिलचस्प बात यह है कि हाल फिलहाल लोन डिफॉल्ट की जितनी घटनाएं सामने आई हैं, उनमें ज्यादातर हीरा कारोबार से जुड़ी हैं. लिहाजा बैंक अब इस कारोबार से जुड़े व्यापारियों को लोन देने से पहले फूंक-फूंक कर कदम बढ़ा रहे हैं.

मनी लॉन्ड्रिंग में 'हीरा सदा के लिए'

मनी लॉन्ड्रिंग में हीरा कारोबार को काफी मुफीद माना जाता रहा है क्योंकि ऐसे जेम्स की कीमत लगाने का तरीका काफी पेचीदा होता है. कीमत निर्धारण में जोड़-तोड़ भी काफी आसान माना जाता है. नीरव मोदी भी डायमंड जूलरी रिटेल स्टोर्स का ही मालिक है जिसका नाम फोर्ब्स अपनी लिस्ट में भी दर्ज कर चुका है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi