S M L

PNB फ्रॉड केसः नीरव मोदी के खिलाफ जारी हुआ इंटरपोल नोटिस

पीएनबी घोटाला सामने आने से पहले ही नीरव मोदी और उनका परिवार देश छोड़ कर बाहर जा चुका है, उनको पकड़ने के लिए सीबीआई ने इंटरपोल से संपर्क किया है

Updated On: Feb 16, 2018 12:25 PM IST

Bhasha

0
PNB फ्रॉड केसः नीरव मोदी के खिलाफ जारी हुआ इंटरपोल नोटिस

पंजाब नेशनल बैंक में हुए घोटाले के आरोपियों की धर-पकड़ की कवायद तेज हो गई है. इस घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी ने जनवरी के पहले सप्ताह में देश छोड़ दिया था. अरबपति आभूषण डिजाइनर और उनके परिवार का पता लगाने के लिए सीबीआई ने इंटरपोल से संपर्क साधा है.

सीबीआई में धोखाधड़ी की शिकायत होने से कुछ सप्ताह पहले ही नीरव मोदी परिवार के साथ देश छोड़कर जा चुका है.

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने इंटरपोल से ‘डिफ्यूजन नोटिस’ जारी करने का अनुरोध किया है. यह नोटिस किसी व्यक्ति का पता लगाने के लिए जारी किया जाता है.

उन्होंने कहा कि सीबीआई को यकीन है कि उसे नीरव मोदी और उसके परिवार के ठिकाने का शुक्रवार को पता चल जाएगा. पंजाब नेशनल बैंक में 11,400 करोड़ रुपए की धोखधड़ी करने के आरोपी नीरव मोदी ने जनवरी के पहले सप्ताह में देश छोड़ा है.

अधिकारियों ने बताया कि 46 वर्षीय नीरव मोदी के पास भारत का पासपोर्ट है और उसने एक जनवरी को देश छोड़ा है. वहीं बेल्जियम के नागरिक उसके भाई ने भी उसी दिन भारत छोड़ा है. हालांकि अभी तक यह ज्ञात नहीं है कि वे कहां गए हैं.

क्या होता है डिफ्यूजन नोटिस

इंटरपोल की वेबसाइट के अनुसार, यह (डिफ्यूजन) नोटिस के मुकाबले कम औपचारिक है, लेकिन इसका प्रयोग पुलिस जांच के संबंध में किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी या उसके ठिकाने का पता लगाने या अतिरिक्त संबंधित सूचना पाने के लिए किया जाता है. डिफ्यूजन एक ऐसा नोटिस है जो एनसीबी (इस मामले में सीबीआई) द्वारा प्रत्यक्ष रूप से उसके पसंद के देशों या फिर इंटरपोल के सभी सदस्यों को जारी किया जाता है और इंटरपोल सूचना प्रणाली में इसका पूरा रिकॉर्ड रखा जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi