S M L

कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर पीएम मोदी की चेतावनी, कहा- वैश्विक आर्थिक वृद्धि हो रही है प्रभावित

विश्व बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और अमेरिकी डॉलर के सामने गिरते रुपए से चिंतित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सउदी अरब जैसे तेल उत्पादक देशों को चेतावनी दी है.

Updated On: Oct 15, 2018 10:07 PM IST

Bhasha

0
कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर पीएम मोदी की चेतावनी, कहा- वैश्विक आर्थिक वृद्धि हो रही है प्रभावित
Loading...

विश्व बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और अमेरिकी डॉलर के सामने गिरते रुपए से चिंतित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सउदी अरब जैसे तेल उत्पादक देशों को चेतावनी देते हुए कहा कि कच्चे तेल के ऊंचे दाम से वैश्विक अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है. प्रधानमंत्री ने पेट्रोलियम उत्पादक देशों से कच्चे तेल के आयात की भुगतान शर्तों की समीक्षा पर भी जोर दिया है ताकि आयातक देशों की स्थानीय मुद्रा को कुछ राहत मिल सके.

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है. पिछले दो महीने से कच्चे तेल के ऊंचे दाम से भारी दबाव झेल रहा है. इससे घरेलू स्तर पर पेट्रोल, डीजल और एलपीजी के दाम नई ऊंचाइयों पर पहुंच गए हैं. इससे मुद्रास्फीति बढ़ने का खतरा तो बढ़ ही गया है साथ ही चालू खाते का घाटा बढ़ने का जोखिम भी बढ़ रहा है. अगस्त मध्य से विश्व बाजार में कच्चे तेल के लगातार बढ़त दाम की वजह से पिछले दिनों पेट्रोल, डीजल पर उत्पाद शुल्क कटौती का असर भी समाप्त होता रहा है.

पीएम मोदी की तेल क्षेत्र के दिग्गजों के साथ यह तीसरी सालाना बैठक हुई है. इसमें सउदी अरब के पेट्रोलियम मंत्री खलिद ए अल-फलिह और संयुक्त अरब अमीरात के मंत्री उपस्थित थे. इसके अलावा प्रमुख तेल कंपनियों के मुख्य कार्याधिकारी और विशेषज्ञ भी बैठक में शामिल हुए. प्रधानमंत्री ने बैठक में तेल उत्पादक देशों को यह समझाने की कोशिश की कि चार साल के उच्चस्तर पर पहुंचे कच्चे तेल के ऊंचे दाम से किस प्रकार वैश्विक अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंच रहा है.

बैठक से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पीएम मोदी ने तेल कंपनियों के मुख्य कार्याधिकारियों से पूछा कि पिछली बैठक में उन्होंने जो सुझाव दिए थे सरकार की तरफ से उन पर अमल किए जाने के बावजूद तेल और गैस की खोज और उत्पादन क्षेत्र में नया निवेश क्यों नहीं आ रहा है. बैठक के बाद जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक पीएम मोदी ने गौर किया कि कच्चे तेल का बाजार उत्पादक देशों के हिसाब से चल रहा है. तेल उत्पादक देश ही उत्पादन की मात्रा और दाम तय कर रहे हैं.

वैश्विक अर्थव्यवस्था में स्थिरता

पीएमओ के बायान में मोदी के हवाले से कहा गया है, 'हालांकि, बाजार में उत्पादन पर्याप्त मात्रा में हो रहा है, लेकिन तेल क्षेत्र में विपणन के विशेष तौर तरीकों से तेल के दाम चढ़ गए हैं. प्रधानमंत्री ने दूसरे बाजारों की तरह कच्चे तेल के बाजार में उत्पादकों और उपभोक्ताओं के बीच मजबूत भागीदारी स्थापित किए जाने पर जोर दिया है. इससे नरमी से उबर रही वैश्विक अर्थव्यवस्था में स्थिरता आएगी.’’

प्रधानमंत्री ने बातचीत में भारत के लिहाज से कुछ खास नीतिगत मुद्दों की का तरफ विशेषज्ञों का ध्यान आकर्षित किया. उन्होंने कहा कि कच्चे तेल के उपभोक्ता देशों को कच्चे तेल के ऊंचे दाम की वजह से कई तरह की आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. उनके समक्ष संसाधनों की गंभीर तंगी खड़ी हो रही है.

वितरण नेटवर्क में निजी भागीदारी

उन्होंने देश में तेल, गैस खोज के क्षेत्र में अधिक क्षेत्रों में चल रहे कार्य की तरफ भी ध्यान खिंचा और इनमें प्रौद्योगिकी और विस्तार के क्षेत्र में विकसित देशों से सहयोग का आह्वान किया. उन्होंने गैस क्षेत्र में वितरण नेटवर्क में निजी भागीदारी का भी जिक्र किया. इस बैठक में सउदी अरब और यूएई के मंत्री के अलावा आरामको, एडीएनओसी, बीपी, रास्नेफ्ट, आईएचएस मार्किट, पायनीयर नेचुरल रिसोर्सिज कंपनी, एतसन इलेक्ट्रिक कंपनी, टेलूरियन मुबाडला इन्वेस्टमेंट कंपनी सहित तेल खेत्र की कई कंपनियों के सीईओ और विशेषज्ञ शामिल हुए.

इनके अलावा वित्त मंत्री अरुण जेटली, पेट्रलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार और सरकार तथा नीति आयोग के कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. बातचीत के दौरान बैठक में शामिल विशेषज्ञों ने खासकर ऊर्जा क्षेत्र में कारोबार सुगमता के लिए उठाए गए कदमों की सराहना की.

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने बैठक में कहा, 'कच्चे तेल के बढ़ते दाम से भारत के समक्ष बड़ी चुनौती खड़ी हो रही है. पिछले एक साल में कच्चे तेल के दाम डॉलर के लिहाज से 50 फीसदी और रुपए के लिहाज से 70 फीसदी बढ़ चुके हैं.'

सूत्रों के मुकाबिक दो घंटे लंबी चली इस बैठक में बीपी के सीईओ बाब दुडले, टोटल के प्रमुख पेट्रिक फायेन, रिलायंस इंडस्ट्रीज के निदेशक पीएमएस प्रसासद और वेदांता प्रमुख अनिल अग्रवाल उपस्थित थे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi