Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

पीएम मोदी की IAS अफसरों को सलाह- खुद को फाइलों तक सीमित ना रखें

मोदी ने भारत सरकार के साथ काम कर रहे 80 से ज्यादा अंडर सेक्रेटरी और ज्वाइंट सेक्रेटरी के साथ बातचीत की

Bhasha Updated On: Aug 25, 2017 04:48 PM IST

0
पीएम मोदी की IAS अफसरों को सलाह- खुद को फाइलों तक सीमित ना रखें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को सलाह दी है कि वे खुद को फाइलों तक सीमित ना रखें, फैसलों का सही प्रभाव देखने के लिए जमीनी स्तर का दौरा करें. प्रधानमंत्री के कार्यालय से जारी प्रेस रिलीज के अनुसार, गुरुवार प्रधानमंत्री से मिलने आए भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के साथ बातचीत के दौरान मोदी ने उन्हें यह सलाह दी.

मोदी ने भारत सरकार के साथ काम कर रहे 80 से ज्यादा अंडर सेक्रेटरी और ज्वाइंट सेक्रेटरी के साथ बातचीत की. प्रधानमंत्री के आईएएस अधिकारियों के साथ पांच अलग-अलग बातचीत सत्र होने हैं, जिनमें से यह दूसरा सत्र था.

बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि अधिकारियों को अपने काम को सिर्फ ड्यूटी नहीं समझनी चाहिए, बल्कि इसे देश के शासन में सकारात्मक बदलाव लाने के अवसर के रूप में देखना चाहिए.

मोदी ने उनसे कहा कि सरकारी प्रक्रियाओं को आसान बनाने के लिए वह टेक्नोलॉजी का प्रयोग करें.

बयान के अनुसार, उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह देश के 100 सबसे पिछड़े जिलों पर ध्यान दें, ताकि विकास के विभिन्न मानदंडों पर उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर लाया जा सके.

पीएमओ से जारी बयान के अनुसार, ‘अधिकारियों की कही गई बातों का जवाब देते हुए पीएम ने इस पर जोर दिया कि अधिकारी स्वयं को फाइलों तक सीमित ना रखें, बल्कि फैसलों के प्रभावों को समझने के लिए जमीनी स्तर के दौरे करें.’ इस संदर्भ में उन्होंने गुजरात में साल 2001 में आए भूकंप के बाद पुन:निर्माण में जुटे अधिकारियों के अनुभवों को साझा किया.

बयान के अनुसार, बातचीत के दौरान अधिकारियों ने प्रस्तुति आधारित प्रशासन, शासन में नवोन्मेष या नयापन, कचरा प्रबंधन, नदी और पर्यावरण प्रदूषण, वानिकी, स्वच्छता, जलवायु परिवर्तन, कृषि के क्षेत्र में मूल्य संवर्द्धन, शिक्षा और कौशल विकास पर अपने विचार रखे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi