S M L

PM ने छात्रों से कहा, मार्च महीने को टेंशन सीजन नहीं, फेस्टिव सीजन मान कर चलें

डायलॉग के इस कार्यक्रम में करीब 10 छात्र-छात्राओं को प्रधानमंत्री से सीधे सवाल पूछने का मौका मिलेगा

| February 16, 2018, 04:10 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Feb 16, 2018

  • 14:24(IST)

    जाते-जाते पीएम ने कहा, छात्रों को ये मानकर चलना चाहिए कि परीक्षा एक फेस्टिवल है और उन्हें फरवरी मार्च के महीने को टेंशन सीजन नहीं फेस्टिव सीजन मानकर चलना चाहिए और इसका आनंद लेना चाहिए. चर्चा समाप्त होने के बाद पीएम ने छात्रों से कहा कि इस क्लास के लिए वे पीएम को 10 में से कितने मार्क देंगे यह उनपर निर्भर करता है. इस पर सभी छात्रों ने कहा कि वे उन्हें 10 में से 10 नंबर देंगे.

  • 14:16(IST)

    कार्यक्रम से जाते वक्त पीएम ने छात्रों को आगामी बोर्ड परीक्षा के लिए शुभकामनाएं दीं और यह भी कहा कि सवा सौ करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद उनके साथ है.

  • 14:09(IST)

    जवाहर नवोदय विद्यालय मुंगेशपुर दिल्ली के छात्र गिरीश सिंह ने पीएम मोदी से सवाल किया, पीएम महोदय मैं कक्षा ग्यारहवीं का छात्र हूं. अगले साल मेरी बोर्ड परीक्षा है और आपकी भी बोर्ड परीक्षा है क्योंकि लोकसभा चुनाव हैं. क्या मेरी तरह आप भी नर्वस हैं? इसके जवाब में पीएम मोदी ने गिरीश से कहा, अगर मैं आपका शिक्षक होता तो आपको पत्रकार बनने की सलाह देता. क्योंकि जिस तरह घुमाकर आपने सवाल पूछा है वह कोई पत्रकार ही पूछ सकता है. पीएम मोदी ने कहा कि मैं नर्वस होकर नहीं उम्मीद के साथ आगे बढ़ता हूं. उन्होंने गिरीश से कहा- आपकी बोर्ड परीक्षा के लिए मेरी तरफ से शुभकामना और मेरी बोर्ड परीक्षा के लिए देश के सवा सौ करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद मेरे साथ है.

  • 14:07(IST)

    मेरा आग्रह है कि आप कुछ पाने का नहीं कुछ करने का सपना देखिए. कुछ करने का सपना देखने पर आपमें कुछ नया करने की इच्छा पैदा होती है. कुछ बनना तय करके आगे बढ़ने से आप गुलाम बन जाते हैं. करने का इरादा होगा तो सारे रास्ते खुल जाते हैं. आपमें क्रिएटिविटी आती है. कुछ करने की स्वतंत्रता होती है : पीएम मोदी

  • 14:05(IST)

    परीक्षा के समय टाइम मैनेजमेंट कैसे करें? इस सवाल के जवाब में पीएम ने कहा कि दो डायरी बनाइए. एक डायरी में लिखें कि आप कल सुबह क्या-क्या करने वाले हैं और दूसरे में लिखें कि दिनभर क्या किया. दोनों डायरियों को अलग-अलग रखें. एक महीने बाद जब आप देखेंगे तो पाएंगे कि शुरुआत में 80 प्रतिशत चीजें वो हुईं जो आपके दिन की प्लानिंग का हिस्सा नहीं थीं. लेकिन समय के साथ आप पाएंगे कि इसमें बदलाव आया है और एक समय पर आपकी योजना और दिन में आपने क्या किया दोनों चीजें समान होंगी : पीएम

  • 14:01(IST)
  • 14:00(IST)

    पीएम ने कहा, पूरे साल के लिए एक टाइम टेबल या शेड्यूल सही नहीं. इसे थोड़ा लचीला बनाया जाना चाहिए ताकि लोग इसका भरपूर उपयोग कर सकें.

  • 13:58(IST)

    नमो मोबाइल एप्प यूज करने वाले जय मिस्त्री ने पीएम से समय प्रबंधन और इसे परीक्षा के वक्त सुधारने के लिए उपायों के बारे में पूछा.

  • 13:54(IST)

    असम के एक छात्र ने पीएम से सवाल किया कि परीक्षा के दौरान छात्रों का आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए शिक्षकों की क्या भूमिका होनी चाहिए?

  • 13:50(IST)

    परीक्षा के दौरान सोना जरूरी है लेकिन इससे ज्यादा जरूरी है सोने की क्वालिटी अच्छी हो. हमारे समाज में शिक्षक परिवार के सदस्य की तरह होते हैं. यह भावना पहले बहुत मजबूत थी जिसे फिर से आगे बढ़ाने की जरूरत है : पीएम मोदी

    बच्चे से जुड़ी हर समस्या माता-पिता टीचर से शेयर करते थे. टीचर बच्चे को पढ़ाने के अलावा माता-पिता से बातचीत कर उनकी और छात्रों की काउंसिलिंग करते थे. टीचर परिवार का इकोसिस्टम जानता था और उसके आधार पर छात्र को गाइड करता था. आज ऐसा नहीं है. मैं टीचर्स से निवेदन करूंगा कि टीचर अपने स्टूडेंट के पूरे इकोसिस्टम को समझने की कोशिश करें : पीएम मोदी

  • 13:46(IST)
  • 13:42(IST)

    हम समाज के लोगों से जितना अधिक संपर्क में आते हैं उतना हमारा ईक्यू डेवलप होता है. ईक्यू मतलब इमोशनल कोशिएंट. पीएम ने कहा कि आईक्यू आपको सफलता दिलवा सकता है लेकिन ईक्यू आपको जिंदगी की बड़ी ताकत देता है. आपके आसपास के लोगों से जोड़ता है : पीएम मोदी

  • 13:41(IST)

    माता का इमोशन सबसे ज्यादा कारगर होता है. माता की भावनाएं बच्चे के लिए प्रेरणा का काम करती हैं- पीएम मोदी

  • 13:39(IST)

    पीएम की सलाह, योग का जो आसन आसान लगे, शुरुआत उसी से करें.

  • 13:38(IST)

    मेरे युवा दोस्तों मैं आपसे गुजारिश करूंगा कि इस बात की चिंता मत करो कि आपका दोस्त कितने घंटे पढ़ता है. यह देखो कि एक दिन में आप कितने घंटे पढ़ते हैं और अगले दिन उससे अधिक पढ़ते हैं कि नहीं- पीएम मोदी

  • 13:37(IST)

    ईक्यू के जरिये रिस्क लेने की क्षमता बढ़ जाती है. पालने में घुंघरू की आवाज से बच्चा चुप हो जाए यही इक्यू है. संगीत की जगह मां की लोरी से बच्चा चुप हो जाए यही ईक्यू है : पीएम मोदी

  • 13:35(IST)

    डीफोकस किए बिना आप फोकस नहीं कर सकते. इसलिए परीक्षा के दिनों में जो भी अच्छा लगता है, कीजिए. आपको हमेशा याद रखना चाहिए कि हरेक मां-बाप अपने बच्चे की भलाई के लिए बहुत कुछ न्योछावर करता है.: पीएम मोदी

  • 13:32(IST)

    मैं माता-पिता से रिक्वेस्ट करूंगा कि अपने बच्चों की उपलब्धियों को सामाजिक प्रतिष्ठा का विषय मत बनाइए. हर बच्चे में अलग खासियत होती है: पीएम नरेंद्र मोदी

  • 13:22(IST)

    छात्र अक्सर विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा करते हैं लेकिन परीक्षा के दिन वे भगवान हनुमान की पूजा करने लगते हैं : पीएम मोदी

  • 13:19(IST)

    मेरे युवा दोस्तों, ये सोचकर परेशान मत होइए कि आपके दोस्त कितने घंटे पढ़ते हैं. सोचिए कि आप दिन में कितने घंटे पढ़ते हैं: पीएम मोदी

  • 13:14(IST)

    खुद से दो कदम आगे चलिए. इससे ऊर्जा पैदा होगी, जो आपको हर परेशानी से बाहर निकालने में मदद करेगी: पीएम मोदी

  • 13:12(IST)

    ये तो मैं स्कूल के अंदर चुटकुले सुना देता था, लेकिन हकीकत ये है कि मन में एक भाव रहता है आत्मविश्वास का. ये बहुत आवश्यक है. आत्मविश्वास कोई जड़ीबूटी नहीं है कि मम्मी कह दें कि एग्जाम में जाने से पहले ये टेबलेट ले लेना: पीएम मोदी

  • 13:11(IST)

    पीएम ने कहा, एक समय में एक ही काम में मन लगाएं, जब जो करें तल्लीन होकर करें. दूसरों से कंपीट न करें बल्कि खुद से प्रतिस्पर्धा करें.

  • 13:07(IST)

    योग बॉडी बाइंडिंग का काम नहीं है. इसका काम शरीर, मन, बुद्धि, आत्मा को एक लय में चलाना होता है : पीएम मोदी

  • 13:06(IST)

    बहुत लोग कहते हैं कि हमें याद नहीं रहता. किसी ने आपको बुरा बोल दिया, आप 6 साल के बाद भी वो बात याद रखते हैं. इसका मतलब आपकी मेमोरी पावर में कोई समस्या नहीं है. आपके जीवन में कोई ऐसा पल आया होगा, परिवार के दादा-दादी ने आपको प्यार दिया होगा. वो पल आप भूल नहीं पाए होंगे. जिन चीजों में आपका दिल जुड़ा जाता है, वो पल आपके लिए यादगार हो जाते हैं: पीएम मोदी

  • 13:03(IST)

    एकाग्रता ऐसी चीज है जिसके लिए कुछ खास सीखने की जरूरत नहीं. हर आदमी किसी बात पर ध्यान केंद्रित कर सकता है. चाहे पढ़ना हो या गाना सुनना या किसी दोस्त से बात करते वक्त भी एकाग्र हुआ जा सकता है : पीएम मोदी

  • 13:01(IST)

    आप देश के प्रधानमंत्री नहीं, अपने दोस्त से बात कर रहे हैं. मैं यहां एक स्टूडेंट के तौर पर आया हूं. देखना यह है कि आप मुझे 10 में से कितने मार्क्स देते हैं: पीएम मोदी

  • 13:00(IST)

    अभी साउथ कोरिया में विंटर ओलिंपिक चल रहे हैं. इसमें कनाडा का एक खिलाड़ी खेल रहा है. वो स्नोबोर्ड में ब्रॉन्ज मेडल लाया. लेकिन अभ्यास के दौरान उसे गंभीर चोट लगी. वो अस्पताल में पड़ा था. लेकिन चार-पांच दिन पहले उसने मेडल जीता. उसने अपने फेसबुक पर दो फोटो अपलोड की. एक में अस्पताल की फोटो और दूसरी में मेडल जीतने की. उसकी तस्वीर का कैप्शन है 'धन्यवाद ज़िंदगी'. कहने का तात्पर्य ये है कि आत्मविश्वास हर पल प्रयासों से आता है. हमें खुद का निरीक्षण करना होगा: पीएम

  • 12:59(IST)

    विवेकानंद कहते थे, खुद को कम मत आंको. ध्यान केंद्रित करना बहुत जरूरी : पीएम मोदी

  • 12:57(IST)

    पीएम ने कहा, आत्मविश्वास न हो तो देवता भी कुछ नहीं कर सकते. आप खुद के परीक्षक हो, ऐसा सोचकर परीक्षा में बैठो.

PM ने छात्रों से कहा, मार्च महीने को टेंशन सीजन नहीं, फेस्टिव सीजन मान कर चलें

10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्कूली छात्रों से सीधा संवाद दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में छात्रों के सवालों का भी जवाब दिया. पीएम ने छात्रों से परीक्षा में टेंशन न लेने और टेस्ट खुशी-खुशी देने की बात कही.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को स्कूली छात्रों से रूबरू होंगे. इस दौरान वे परीक्षा से जुड़े अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा करेंगे. पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश भर के लाखों छात्रों के सवालों का जवाब देंगे.

डायलॉग का यह खास प्रोग्राम दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में 12 बजे दिन में शुरू होगा.  पीएम मोदी छात्रों को संबोधित कर उन्हें परीक्षा की तैयारियों के गुर सीखाएंगे ताकि छात्रों को तनाव से मुक्ति मिले. इस प्रोग्राम का नाम 'परीक्षा पर चर्चा' रखा गया है.

CBSE की मुकम्मल तैयारी

ज्यादा से ज्यादा स्कूली छात्र इस प्रोग्राम का लाभ उठाएं, इसके लिए सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) ने पूरी तैयारी कर ली है. इस बाबत सीबीएसई ने सभी स्कूलों को लाइव टेलीकास्ट करने का निर्देश दिया है. इतना ही नहीं, सीबीएसई ने इस मौके पर सभी छात्रों को स्कूल में हाजिर रहने का आदेश जारी किया है.

pariksha par charcha PM modi

पीएम से सीधे पूछें सवाल

डायलॉग के इस कार्यक्रम में करीब 10 छात्र-छात्राओं को प्रधानमंत्री से सीधे सवाल पूछने का मौका मिलेगा. इसके अलावा प्रधानमंत्री माई गॉव एप्प से चुने गए कुछ सवालों के जवाब भी देंगे.अभी हाल में पीएम ने अपने ट्वीट में कहा था कि 'मेरे युवा दोस्तों, मैं इस महीने की 16 तरीख को आपसे चर्चा करने को लेकर उत्सुक हूं. मैं आपसे परीक्षा के दौरान तनाव मुक्त और खुश रहने की जरूरत पर चर्चा करूंगा''.

कार्यक्रम का लब्बोलुआब

प्रधानमंत्री मोदी शुक्रवार को दिल्ली में एक 'टाउन हॉल गैदरिंग' को संबोधित करेंगे. इस कार्यक्रम में देश भर से आए छात्र हिस्सा लेंगे. पीएम मोदी छात्रों को बताएंगे कि कैसे टेंशन लिए बिना भी पढ़ाई-लिखाई की जा सकती है. देश के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब कोई प्रधानमंत्री इस तरह की गैदरिंग को संबोधित करेगा.

छात्रों की तादाद का ख्याल रखते हुए दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में यह प्रोग्राम आयोजित है. प्रधानमंत्री छात्रों से रूबरू तो होंगे ही, सोशल मीडिया और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भी वो उनके सवालों के जवाब देंगे.

कहां से आया आइडिया

दरअसल प्रधानमंत्री मोदी की एक नई किताब आई है जिसका नाम 'एक्जाम वॉरियर्स' है. टेंशन फ्री होकर इम्तहान देना प्रधानमंत्री का पसंदीदा मुद्दा रहा है और यही उनकी इस नई किताब का एक टॉपिक भी है. 'एक्जाम वॉरियर्स' मोदी की पांचवीं किताब है लेकिन इम्तहान के मुद्दे पर यह उनकी पहली रचना होगी. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर उनकी इस पुस्तक का लोकार्पण कर चुके हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi