S M L

मगहर में कबीर महोत्सव: 3 तलाक पर रोड़े अटकाए गए, कुछ दल इसे पास नहीं होने दे रहे थे-PM मोदी

पीएम मोदी जनसभा को संबोधित कर रहे हैं, जिसे बीजेपी 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर प्रचार की शुरुआत के रूप में देख रही है

| June 28, 2018, 03:47 PM IST

FP Staff

0

हाइलाइट

Jun 28, 2018

  • 12:31(IST)

    14-15 वर्ष पहले जब पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम जी यहां आए थे, तब उन्होंने इस जगह के लिए एक सपना देखा था. उनके सपने को साकार करने के लिए, मगहर को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र में सद्भाव-समरसता के मुख्य केंद्र के तौर पर विकसित करने का काम अब किया जा रहा है: PM

  • 12:30(IST)

    पहले यूपी विकास के लिए तरस गया था. आज दोगुनी गति से विकास का काम हो रहा है-पीएम मोदी

  • 12:27(IST)

    अब यूपी में तेजी से विकास का काम हो रहा है. एक-एक इंच जमीन पर विकास की धारा बहेगी-पीएम मोदी

  • 12:24(IST)

    जनधन योजना के तहत उत्तर प्रदेश में लगभग 5 करोड़ गरीबों के बैंक खाते खोलकर, 80 लाख से ज्यादा महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन देकर, करीब 1.7 करोड़ गरीबों को बीमा कवच देकर, 1.25 करोड़ शौचालय बनाकर, गरीबों को सशक्त करने का काम किया है: PM

  • 12:18(IST)

    समाजवाद और बहुजन की बात करने वालों का सत्ता के प्रति लालच आप देख रहे हैं. 2 दिन पहले देश में आपातकाल को 43 साल हुए हैं. 
    सत्ता का लालच ऐसा है कि आपातकाल लगाने वाले और उस समय आपातकाल का विरोध करने वाले एक साथ आ गए हैं. ये समाज नहीं, सिर्फ अपने और अपने परिवार का हित देखते हैं: PM

  • 12:16(IST)
  • 12:15(IST)

    कुछ लोगों का मन अपने आलीशान बंगले में लगा है. ऐसे लोग जमीन से कट गए हैं-पीएम मोदी

  • 12:14(IST)

    महापुरुषों के नाम पर राजनीति की जा रही है. कुछ राजनीतिक दलों को समाज में कलह, अशांति चाहिए. ऐसे लोग जमीन से कट गए हैं-पीएम मोदी

  • 12:13(IST)

    कुछ राजनीतिक दलों को शांति पसंद नहीं, कुछ लोग समाज तोड़ने की कोशिश करते हैं. संत कबीर ने समाज को दिशा दिखाई-पीएम मोदी

  • 12:10(IST)

    ये हमारे देश की महान धरती का तप है, उसकी पुण्यता है कि समय के साथ, समाज में आने वाली आंतरिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए समय-समय पर ऋषियों, मुनियों, संतों का मार्गदर्शन मिला. सैकड़ों वर्षों की गुलामी के कालखंड में अगर देश की आत्मा बची रही, तो वो ऐसे संतों की वजह से ही हुआ: PM

  • 12:08(IST)

    कबीर ने जाति-पाति के भेद तोड़े, “सब मानुस की एक जाति” घोषित किया और अपने भीतर के अहंकार को ख़त्म कर उसमें विराजे ईश्वर का दर्शन करने का रास्ता दिखाया. वे सबके थे, इसीलिए सब उनके हो गए: PM

  • 12:06(IST)

    वो धूल से उठे थे लेकिन माथे का चंदन बन गए. वो व्यक्ति से अभिव्यक्ति और इससे आगे बढ़कर शब्द से शब्दब्रह्म हो गए. वो विचार बनकर आए और व्यवहार बनकर अमर हुए. संत कबीर दास जी ने समाज को सिर्फ दृष्टि देने का काम ही नहीं किया बल्कि समाज को जागृत किया: PM

  • 12:04(IST)

    कबीर की साधना ‘मानने’ से नहीं, ‘जानने’ से आरंभ होती है.. 
    वो सिर से पैर तक मस्तमौला, स्वभाव के फक्कड़
    आदत में अक्खड़ 
    भक्त के सामने सेवक 
    बादशाह के सामने प्रचंड दिलेर 
    दिल के साफ
    दिमाग के दुरुस्त
    भीतर से कोमल
    बाहर से कठोर थे. 
    वो जन्म के धन्य से नहीं, कर्म से वंदनीय हो गए: PM

  • 12:01(IST)

    थोड़ी देर पहले यहां संत कबीर अकादमी का शिलान्यास किया गया है. यहां महात्मा कबीर से जुड़ी स्मृतियों को संजोने वाली संस्थाओं का निर्माण किया जाएगा. 
    कबीर गायन प्रशिक्षण भवन, कबीर नृत्य प्रशिक्षण भवन, रीसर्च सेंटर, लाइब्रेरी, ऑडिटोरियम, हॉस्टल, आर्ट गैलरी विकसित किया जाएगा: PM

  • 12:01(IST)

    आज ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा है..आज ही से भगवान भोलेनाथ की यात्रा शुरू हो रही है. मैं तीर्थयात्रियों को सुखद यात्रा के लिए शुभकामनाएं भी देता हूं. कबीर दास जी की 500वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आज से ही यहां कबीर महोत्सव की शुरुआत हुई है: PM

  • 12:00(IST)

    आज मेरी बरसों की कामना पूरी हुई है..संत कबीर दास जी की समाधि पर फूल चढ़ाने का, उनकी मजार पर चादर चढ़ाने का, सौभाग्य प्राप्त हुआ. मैं उस गुफा में भी गया, जहां कबीर दास जी साधना करते थे: PM

  • 11:59(IST)
  • 11:58(IST)
  • 11:57(IST)

    संत कबीर की मजार पर फूल चढ़ा कर बहुत खुश हूं, उन्हें कोटि-कोटि नमन-पीएम मोदी

  • 11:56(IST)

    संत कबीर की पावन धरती पर आने का सौभाग्य मिला. मुझे इसकी विशेष अनुभूति हुई है-पीएम मोदी 

  • 11:13(IST)
  • 11:01(IST)
  • 11:01(IST)
  • 10:57(IST)
  • 10:50(IST)

    पीएम मोदी संत कबीर की मजार पर पहुंचे. मजार पर उन्होंने चादर चढ़ाई.

  • 10:47(IST)

    पीएम मोदी संत कबीर की नगरी मगहर पुहंचे, उनके साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हैं.

  • 09:27(IST)
  • 09:25(IST)

    बीजेपी के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सत्येंद्र सिन्हा ने बताया कि प्रधानमंत्री ने साल 2014 में गोरखनाथ पीठ से जिस प्रकार से संदेश दिया था, इस बार वे कबीरदास जी की निर्वाणस्थाली से संदेश देंगे. उन्होंने बताया कि इस दौरान होने वाली रैली में बड़ी संख्या में लोगों के मौजूद रहने की उम्मीद है. 

  • 09:21(IST)

    प्रधानमंत्री ने अपने ‘मन की बात’ संबोधन के दौरान रविवार को 15वीं शताब्दी के इस महान संत के योगदान और अंधविश्वास को दूर करने से जुड़े उनके कार्यों को याद किया था. उन्होंने कहा कि संत कबीरदास ने अपनी अंतिम सांसें मगहर में ली थी, जबकि लोगों में यह आम धारणा है कि जिसकी भी मृत्यु वहां होती है, उसे स्वर्ग की प्राप्ति नहीं होती. 

  • 09:11(IST)
मगहर में कबीर महोत्सव: 3 तलाक पर रोड़े अटकाए गए, कुछ दल इसे पास नहीं होने दे रहे थे-PM मोदी
Loading...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को संत कबीर की धरती मगहर पहुंच गए. उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हैं. पीएम मोदी संत कबीर नगर में गुरुवार को ‘संत कबीर अकादमी‘ की आधारशिला रखेंगे और मगहर में जनसभा को संबोधित करेंगे.

प्रधानमंत्री संत कबीर दास की 500वीं पुण्यतिथि पर उनकी परिनिर्वाण स्थली पर जाकर उनकी मजार पर चादर चढ़ाएंगे. साथ ही वह कबीर अकादमी का शिलान्यास करेंगे. मोदी एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे, जिसे बीजेपी 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर प्रचार की शुरुआत के रूप में देख रही है.

प्रधानमंत्री के मगहर दौरे से एक दिन पहले बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद मौके पर जाकर तैयारियों का जायजा लिया. इलाके में मंगलवार को हुई भारी बारिश की वजह से प्रधानमंत्री के रैली स्थल में पानी भर गया है, जिसे खत्म करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री को मगहर से गोरखपुर लौटना था लेकिन वहां हुई भारी बारिश के कारण प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में फेरबदल के कारण उन्हें लखनऊ आना पड़ा. प्रधानमंत्री के बदले हुए कार्यक्रम के मुताबिक वह अब लखनऊ से हेलीकॉप्टर से मगहर रवाना होंगे. वह गोरखपुर नहीं जाएंगे. इससे पहले उन्हें विमान से गोरखपुर जाना था. उसके बाद मगहर तक की लगभग 30 किलोमीटर की दूरी हेलीकाप्टर से तय करनी थी.

बीजेपी के जोनल उपाध्यक्ष सत्येंद्र सिन्हा ने बताया, ‘प्रधानमंत्री ने 2014 में गोरखपुर की गोरक्षपीठ से एक संदेश दिया था, जिसके अच्छे नतीजे रहे थे, उसी तरह वह इस बार कबीर दास की निर्वाण स्थली से संदेश देंगे.’

उन्होंने बताया कि राज्य के सात पूर्वी जिलों की जनता से पार्टी कार्यकर्ता संपर्क कर रहे हैं. जनसभा में बड़ी संख्या में लोगों के आने की उम्मीद है. सिन्हा ने बताया कि पार्टी राज्य में इस साल चुनावी वर्ष होने के कारण और रैलियों का आयोजन करने की योजना बना रही है.

गोरखपुर में मंगलवार रात से बुधवार सुबह तक हुई भारी बारिश की वजह से महायोगी गुरु गोरखनाथ हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया है और दिल्ली जाने वाली दोनों उड़ानें रद्द कर दी गई हैं. हवाई अड्डे के निदेशक बी.एस. मीना ने बताया कि दिल्ली जाने वाली एयर इंडिया और स्पाइस जेट की उड़ानें भारी बारिश के कारण रद्द कर दी गई हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi