S M L

‘स्वच्छ भारत’ के लिए मोदी ने विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियों को लिखा खत

प्रधानमंत्री ने अपने लिखे खत में स्वच्छता के लिए शपथ लेने की बात कहते हुए प्रमुख हस्तियों से समर्थन मांगा

Updated On: Sep 18, 2017 04:08 PM IST

Bhasha

0
‘स्वच्छ भारत’ के लिए मोदी ने विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियों को लिखा खत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘स्वच्छ भारत’ अभियान के तीन साल पूरा होने पर उद्योग, खेल, सिनेमा समेत विभिन्न क्षेत्रों की प्रमुख हस्तियों को खत लिखकर ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान के लिये उनका समर्थन मांगा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि यह सबसे अच्छी सेवा है.

पीएम मोदी ने 2 अक्टूबर, 2014 को साफ-सफाई को बढ़ावा देने के लिये स्वच्छ भारत अभियान शुरू करते हुए खुद अपने हाथों में झाड़ू थामी थी. उन्होंने प्रमुख हस्तियों, प्रमुख उद्योगपतियों, खिलाड़ियों, फिल्म कलाकारों, धर्म गुरुओं और अन्य मशहूर और खास लोगों को निजी तौर पर खत लिखकर उनसे समर्थन मांगा है.

अपने खत में स्वच्छता का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने इसे महात्मा गांधी के दिल के बेहद करीब बताया. उन्होंने कहा कि बापू मानते थे कि स्वच्छता का पालन हम सभी को करना चाहिए.

उन्होंने अपने खत में लिखा कि सीमाओं और पीढ़ियों के बंधनों से अलग महात्मा गांधी ने करोड़ों लोगों को प्रेरित करते हुए यह भी साफ किया कि स्वच्छता के प्रति हमारा रुख समाज के प्रति हमारे रवैया को दर्शाता है. ‘बापू मानते थे कि स्वच्छता को सामुदायिक सहभागिता के जरिए हासिल किया जा सकता है.’

खत में स्वच्छता के लिए शपथ लेने की बात कहते हुए मांगा समर्थन

इन हस्तियों से स्वच्छता के लिए शपथ लेने की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, '2 अक्टूबर को गांधी जयंती आ रही है. हम समूचे भारत में स्वच्छता पहल के लिये व्यापक समर्थन और भागीदारी के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं.’ उन्होंने लिखा, ‘आइए यह पक्का करें कि आने वाले दिन ‘स्वच्छता ही सेवा’ के मंत्र के साथ आत्मसात करने के होंगे.’

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य भारत को एक स्वच्छ जगह बनाना है.

मोदी ने लिखा, ‘मैं व्यक्तिगत रूप से ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान और स्वच्छ भारत के लिये कुछ समय समर्पित करने के उद्देश्य से आपको समर्थन देने के लिये आमंत्रित करता हूं.’ उन्होंने कहा कि उनकी सहभागिता दूसरों को भी इस अभियान से जुड़ने के लिये प्रेरित करेगी.

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छता के लिये साथ आना बापू को उचित श्रद्धांजलि होगी और नए भारत के निर्माण की तरफ भी योगदान होगा.

उन्होंने ‘जय हिंद!’ के साथ अपना खत समाप्त करने से पहले लिखा, ‘एक स्वच्छ भारत गरीबों, पिछड़ों और हाशिए पर पड़े लोगों के लिये सबसे अच्छी सेवा है. गंदगी समाज के कमजोर वर्ग को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi