S M L

रायसीना डायलॉग में बोले नेतन्याहू- शांति के लिए जरूरी है मजबूत देशों के बीच गठजोड़

नेतन्याहू ने कहा कि पिछले साल आपके पीएम के इजरायल दौरे से इतिहास बना, वे पहले भारतीय नेता थे जो पिछले 3000 सालों में इजरायल आए

Updated On: Jan 16, 2018 08:51 PM IST

FP Staff

0
रायसीना डायलॉग में बोले नेतन्याहू- शांति के लिए जरूरी है मजबूत देशों के बीच गठजोड़

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने मंगलवार शाम रायसीना डायलॉग में कहा कि कमजोर अपने आपको बचा नहीं सकते, सिर्फ मजबूत ही बचे रह सकते हैं, आपको मजबूत लोगों के साथ अलायंस बनाना चाहिए, आप मजबूत रहकर ही शांति कायम रख सकते हैं. इस वजह से हमारे पहले प्रधानमंत्री ने इसे वक्त की जरूरत समझकर अपने अस्तित्व को बचाए रखने के लिए इजरायल को ताकतवर बनाया.

इजरायल के पीएम ने कहा कि यह जानकर में हैरान हूं कि पीएम मोदी ने पिछले तीन सालों में बिजनेस करने के लिहाज से भारत को 42 पायदान ऊपर पहुंचा दिया है.

नेतन्याहू ने भारत और इजरायल के लिए बिजनेस में आगे बढ़ने का मंत्र देते हुए कहा कि अगर आप आर्थिक शक्ति बनना चाहते हैं तो आपको टैक्स में कटौती करनी और इसे सरल करना होगा और नौकरशाही में कमी लानी होगी. भारत और इजरायल के सामने सबसे पहला काम नौकरशाही के हस्तक्षेप को कम करना है ताकि कपंनियां सिर्फ बिजनेस करने के लिए अपने बिजनेस पर ध्यान दे सकें.

लोकतंत्र है सबसे महत्वपूर्ण मूल्य

नेतन्याहू ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला लोकतंत्रों में से एक है. यह एक ऐसा मूल्य है जिसमें मानवता दिखाते हुए आजादी के साथ लोगों के अधिकारों, उनके सोचने, बोलने और विश्वास की रक्षा की जा सकती है. हम इजरायल की ही तरह बहुलतावादी और विविधता से भरे समाज का निर्माण कर सकते हैं. लोकतंत्र सबसे महत्वपूर्ण मूल्य है.

नेतन्याहू ने कहा कि लोकतंत्र एक-दूसरे से सहज रूप में जुड़ते हैं. मैंने लोगों में सहानुभूति और दोस्ती का भाव देखा. जब मैं आगरा की गलियों में घूम रहा था तो किसी ने मुझसे कहा कि हम बहुत खुश हैं कि आप हमारे पीएम के दोस्त हैं, हम भी आपके और इजरायल के दोस्त हैं.

इजरायल के पीएम ने कहा कि हमारे साझा भविष्य के लिए लोकतंत्रों के बीच गठजोड़ काफी महत्वपूर्ण है. इस दौरे में हमने इस बात पर चर्चा की कि कैसे दोनों देशों के बीच नागरिक, सुरक्षा और हर क्षेत्र में ताकत बढ़ाई जाए.

नेतन्याहू ने कहा कि पिछले साल आपके पीएम के इजरायल दौरे से इतिहास बना, वे पहले भारतीय नेता थे जो पिछले 3000 सालों में इजरायल आए, मुझे उम्मीद है कि अब उनके अगले दौरे के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा. मैं आपसे कहना चाहता हूं कि हम भारत पर उसी तरह भरोसा करते हैं, जैसा आप इजरायल पर करते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi