S M L

छत्तीसगढ़ में पीएम: 'लाल आतंक' के गढ़ से होगी आयुष्मान भारत की शुरुआत

नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग के वीजापुर जिले में जांगला गांव पहुंचकर प्रधानमंत्री का आयुष्मान योजना का आगाज करना अपने-आप में बड़ा संदेश दे रहा है

Amitesh Amitesh Updated On: Apr 13, 2018 09:25 PM IST

0
छत्तीसगढ़ में पीएम: 'लाल आतंक' के गढ़ से होगी आयुष्मान भारत की शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाबा साहब भीम राव अंबेडकर की जयंती के मौके पर 14 अप्रैल को देश को बड़ी सौगात देने जा रहे हैं. मोदी इस दिन छत्तीसगढ़ के वीजापुर जिले से केंद्र सरकार की महात्वाकांक्षी आयुष्मान योजना की शुरुआत करने जा रहे हैं. नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग के वीजापुर जिले में जांगला गांव पहुंचकर प्रधानमंत्री का आयुष्मान योजना का आगाज करना अपने-आप में बड़ा संदेश दे रहा है.

मोदी सरकार अगले लोकसभा चुनाव में इस योजना को गेम चेंजर मान कर चल रही है. इस साल के आखिर में छत्तीसगढ़ में भी विधानसभा के चुनाव होने हैं. लिहाजा उसके पहले प्रधानमंत्री देश के गरीब तबके को नई सौगात देने आदिवासी बहुल वीजापुर इलाके में पहुंच रहे हैं.

इस साल केंद्रीय बजट में ही आयुष्मान योजना का ऐलान किया गया था, जिसके तहत देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को 5 लाख रुपए तक की हेल्थ बीमा देने का ऐलान हुआ था. इस बीमा का पूरा खर्च सरकार वहन करेगी. यानी गरीब तबका अब गंभीर बीमारी के इलाज के लिए दर-दर की ठोकर खाने के बजाए बड़े अस्पतालों में अपना इलाज आसानी से कर सकेगा.

इलाके में विकास को लेकर सरकार काफी काम कर रही है

प्रधानमंत्री मोदी की यह चौथी छत्तीसगढ़ यात्रा है, जिस दिन वो वीजापुर के जांगला गांव के उप-स्वास्थ्य केंद्र में आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत करेंगे. हालांकि इस मौके पर प्रधानमंत्री की तरफ से छत्तीसगढ़ के लिए विकास की कई योजनाओं की आधारशिला भी रखी जाएगी तो कई दूसरे कामों का उद्घाटन भी किया जाना है.

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में 'अंतिम सांस' गिन रहा है पीडीपी-बीजेपी गठबंधन

बीजापुर जिले के जांगला सहित सात गांवों के लिए अलग-अलग बैंक की शाखाओं की भी शुरुआत इस दिन होगी. इन शाखाओं के अलावा बस्तर संभाग के उन 21 गांवों में एटीएम की सुविधा भी शुरू की जाएगी जहां बैंक नहीं हैं.

नक्सल प्रभावित इस इलाके में विकास को लेकर सरकार काफी काम कर रही है. खासतौर से इस सुदुर इलाके में रेल और सड़क मार्ग के जरिए आदिवासी तबके को मुख्यधारा में जोड़ने की पूरी कोशिश की जा रही है. इसी के तहत प्रधानमंत्री मोदी जांगला में उत्तर बस्तर की जनता को दल्लीराजहरा से भानुप्रतापपुर के बीच बने रेल लाइन और नई यात्री ट्रेन की सौगात देंगे. अब उत्तर बस्तर भी रेल सेवा से जुड़ जाएगा.

इसके अलावा मोदी जांगला के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 1043 करोड़ रूपए की सड़कों और नए ब्रिज का शिलान्यास भी करेंगे. इसमें छत्तीसगढ़ के इन्द्रावती नदी पर बनने वाले पुल का भी शिलान्यास शामिल है.

इसके अलावा मोदी जैगुर-दरभा से कुटरू मार्ग पर बड़ा का शिलान्यास और अंचल में सड़क कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए 658 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित 735 किलोमीटर की सड़कों का भी लोकार्पण करने वाले हैं.

raman singh ji

नक्सल प्रभावित इलाके वीजापुर में सरकार पहले से ही इंटरनेट और मोबाइल कनेक्टविटी को लेकर काम कर रही है. उसकी कोशिश है कि आदिवासी समुदाय तक दूर-दराज के जंगलों में भी तकनीक के जरिए उनसे संपर्क किया जाए और देश-दुनिया में होने वाले घटनाक्रम से उन्हें अवगत कराया जाए. हालांकि ऐसा करते वक्त सरकार को काफी परेशानी का भी सामना करना पड़ता है, क्योंकि नक्सली इन इलाकों में सरकार की इस कोशिश का विरोध करते रहे हैं. लेकिन, सरकार भी डिजिटल इंडिया के सपने को इन इलाकों में भी ले जाने को लेकर तैयारी कर रही है. प्रधानमंत्री अपने दौरे में छत्तीसगढ़ सरकार की बस्तर नेट परियोजना के पहले चरण का लोकार्पण करने वाले हैं. इस परियोजना के तहत आदिवासी बहुल बस्तर संभाग के दूर-दराज के गांवों को इंटरनेट से जोड़ने की कोशिश हो रही है.

इस मौके पर बीजापुर के विकास के लिए चलाई जा रही अलग-अलग योजनाओं की प्रदर्शनी भी लगाई गई है. प्रधानमंत्री इस मौके पर इन सभी अलग-अलग विकास की परियोजनाओं को भी देखेंगे.

प्रधानमंत्री प्रदर्शनी के दौरान इन सभी कामों का भी मुआयना करने वाले हैं

गौरतलब है कि अकेले बीजापुर जिले में 270 आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र के रूप में विकसित किया गया है, जिन्हें ठीक तरह से सजाया-संवारने के साथ-साथ हर केंद्र में साफ पीने के पानी, शौचालय, रसोई घर के साथ-साथ रसोई गैस की भी व्यवस्था की गई है. प्रधानमंत्री प्रदर्शनी के दौरान इन सभी कामों का भी मुआयना करने वाले हैं.

यह भी पढ़ें: कठुआ रेप मामला: देश ही नहीं, विदेशी मीडिया में भी मची खलबली

इस मौके पर प्रधानमंत्री की तरफ से वीजापुर जिले के असंगठित क्षेत्र के कई मजदूरों और गरीबों को ई-रिक्शा दिया जाएगा, जिससे वो अपना जीवन-यापन कर सकें. गरीब महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस का भी कनेक्शन देंगे. मोदी के एजेंडे में उज्ज्वला योजना सबसे उपर है, जिसको वो बार-बार अपनी सरकार की बड़ी उपलब्धि के तौर पर पेश करते हैं.

आयुष्मान योजना के लॉन्च होने के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी के साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा भी मौजूद रहने वाले हैं. लेकिन, इस बड़ी योजना के लांचिग के मौके पर प्रधानमंत्री का छत्तीसगढ़ पहुंचना साफ संकेत दे रहा है कि सरकार इस इलाके को लेकर कितनी गंभीर है. विकस की कई योजनाओं को जमीन पर लाकर सरकार विकास के एजेंडे को छत्तीगढ़ विधानसभा चुनाव से पहले सामने लाने की तैयारी में है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi