S M L

BHU में गांधी की हत्या का मना जश्न, वीडियो हुआ वायरल

बीएचयू में मैं नाथूराम गोडसे बोल रहा हूं नाटक का मंचन किया गया, इस नाटक में गांधी की हत्या को जायज ठहराया गया है और राष्ट्रपिता को बंटवारे का जिम्मेदार माना गया है

FP Staff Updated On: Feb 22, 2018 11:07 AM IST

0
BHU में गांधी की हत्या का मना जश्न, वीडियो हुआ वायरल

देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे पर आधारित एक नाटक का आयोजन किया गया. इस प्ले में गोडसे का जमकर महिमामंडन किया गया है. बीएचयू फैकल्टी ऑफ आर्ट्स द्वारा हर साल मनाए जाने वाले संस्कृति 2018 के तीन दिवसीय कार्यक्रम के दौरान यह हुआ.

इस नाटक के वीडियो वायरल होने के बाद विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों ने इस को लेकर बीएयू और जिला प्रशासन में शिकायत दर्ज कराई है. छात्रों ने मांग की है कि इन लोगों पर कार्रवाई की जाए.

छात्रों ने आपत्ति जताई है कि इस नाटक में नाथूराम गोडसे का महिमामंडन किया गया है. छात्रों ने आरोप लगाया है कि यह मराठी के विवादित नाटक 'मैं नाथूराम गोडसे बोल रहा हूं' पर आधारित है जिसमें राष्ट्रपिता को बंटवारे का दोषी माना गया है और उनकी हत्या को जायज ठहराया गया है.

न्यूज-18 की खबर के मुताबिक, वायरल वीडियों में स्टेज पर मौजूद छात्र कलाकारों का उत्साह बढ़ाते नजर आ रहे हैं. साथ ही साथ लगातार तालियां बज रही हैं और वीडियो में यह डायलॉग भी सुना जा सकता है कि मुझे गर्व था मैं हिंदू हूं, गांधी अहिंसा से हिंसा करने लगे, मुसलामानों का साथ दिया, नहीं देखा गया, सोचा गांधी को जाना होगा.

दर्शक उस वक्त और शोर मचाने लगते हैं जब नाटक में डायलॉग बोला जाता है 'मैंने गांधी को मारा'.

नाटक के माध्यम से गांधी की विरासत को धूमिल करने की कोशिश

छात्रों ने अपनी शिकायत में कहा है कि इस नाटक के माध्यम से गांधी की विरासत को धूमिल करने की साजिश की गई है और इसकी जांच होनी चाहिए. छात्रों ने बीएचयू और गांधी जी को जोड़कर भी कहा है कि 1916 में गांधी के एक भाषण से ही विश्वविद्यालय की नींव रखी गई थी.

छात्रों ने जिला और बीएचयू प्रशासन को लिखे अपने पत्र में कहा है कि महात्मा गांधी ने सत्याग्रह की नींव रखी और BHU के संस्थापक मदन मोहन मालवीय साथ उनके अच्छे संबंध थे. लेकिन गांधी जी को BHU में अपमानित किया गया जबकि गोडसे की तारीफ की गई. ये राष्ट्रद्रोह से कम नहीं है.

शिकायत में आगे कहा गया है कि इस घटना ने स्वतंत्रता संग्राम के उच्च आदर्शों और साथ ही संविधान और BHU के मूल्यों को चोट पहुंचाई है.

NSUI के राज्य अध्यक्ष विकास सिंह ने कहा कि BHU के परिसर में नाथुराम गोडसे को हीरो के तौर पर दिखाया जा रहा है, यह दुर्भाग्यपूर्ण है.

चीफ प्रॉक्टर रॉयना सिंह ने कहा कि हां हमें शिकायत मिली है. छात्र इस बात से बेहद गुस्से में थे कि नाटक में गोडसे को हीरो के तौर पर दिखाया गया. मैंने शिकायत पुलिस को भी भेज दी है. हम घटनाओं के तथ्यों की जांच करेंगे और साथ ही राष्ट्रदोह के आरोपों की जांच भी करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi