S M L

मद्रास हाई कोर्ट: तीन तलाक के अध्यादेश के विरोध में याचिका, संविधान के उल्लंघन की कही बात

तत्काल तीन तलाक की कुप्रथा को दंडनीय अपराध बताने वाले एक अध्यादेश के खिलाफ मद्रास हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है.

Updated On: Oct 05, 2018 09:15 PM IST

Bhasha

0
मद्रास हाई कोर्ट: तीन तलाक के अध्यादेश के विरोध में याचिका, संविधान के उल्लंघन की कही बात

तत्काल तीन तलाक की कुप्रथा को दंडनीय अपराध बताने वाले एक अध्यादेश के खिलाफ मद्रास हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है. याचिका में कहा गया है कि यह अध्यादेश संविधान का उल्लंघन करता है और भेदभावपूर्ण है.

इस जनहित याचिका को हाई कोर्ट के एक वकील हुसैन अफरोज ने दायर किया है. वह जब सुनवाई के लिए अदालत में आए तो न्यायमूर्ति एस मणिकुमार और न्यायमूर्ति पीटी आशा की एक पीठ ने केंद्र सरकार की ओर से पेश हुए वकील को निर्देश लाने को कहते हुए इस मामले की सुनवाई के लिए 22 अक्टूबर की तारीख तय कर दी.

याचिकाकर्ता ने मुस्लिम महिला (विवाह के संबंध में अधिकारों के संरक्षण) के अध्यादेश के उपबंध 4-7 को चुनौती दी है जिसे 19 सितंबर से लागू किया गया है. याचिकाकर्ता ने इस अध्यादेश को कानूनी क्षेत्र से बाहर का बताया और इस अध्यादेश पर अंतरिम निषेधाज्ञा लाने की मांग की.

इससे पहले केरल के मुस्लिम संगठन समस्त केरल जमीयतुल उलमा ने भी इस अध्यादेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi