S M L

फिल्म में राष्ट्रगान बजने पर दर्शकों को खड़े होने की जरूरत नहीं: सुप्रीम कोर्ट

अदालत ने याचिकाकर्ताओं के उठाए बिंदुओं पर चर्चा के लिए सुनवाई की अगली तारीख 18 अप्रैल तय की है

Bhasha Updated On: Feb 14, 2017 05:05 PM IST

0
फिल्म में राष्ट्रगान बजने पर दर्शकों को खड़े होने की जरूरत नहीं: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया कि राष्ट्रगान किसी फिल्म, डॉक्युमेंट्री या न्यूज़ रील का हिस्सा हो तो दर्शकों को इस दौरान खड़े होने की जरूरत नहीं है.

मंगलवार को जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस आर भानुमति की बेंच ने यह स्पष्टीकरण उस समय दिया जब याचिकाकर्ताओं में से एक ने कहा कि सर्वोच्च अदालत को यह साफ करना चाहिए कि क्या फिल्म, डॉक्युमेंट्री या न्यूज़ रील में राष्ट्रगान बजने पर भी दर्शकों को खड़ा होना पड़ेगा.

बेंच ने कहा, 'यह साफ किया जाता है कि जब किसी फिल्म, डॉक्युमेंट्री या न्यूज़ रील की कहानी के हिस्से के रूप में राष्ट्रगान बजता है तो दर्शकों को खड़ा होने की जरूरत नहीं है'.

पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ताओं द्वारा उठाये गये बिंदुओं पर चर्चा की जरुरत है. अदालत ने इस मामले की अगली सुनवाई 18 अप्रैल की तारीख तय की है.

सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 30 नवंबर को अपने ऐतिहासिक फैसले में सभी सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्स को आदेश दिया था कि वो फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रगान बजाएं और दर्शक इसके प्रति सम्मान में खड़े हों.

अदालत ने श्याम नारायण चोकसी की जनहित याचिका पर यह आदेश दिया था.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सिनेमा हॉल और मल्टीप्लेक्स में राष्ट्रगान बजने के दौरान दर्शकों के सम्मान में खड़े नहीं होने पर कई विवाद हो चुके हैं. राष्ट्रगान पर खड़े नहीं होने पर कुछ लोगों के साथ मारपीट की भी खबरें आई थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi