S M L

Paytm ब्लैकमेल केस: घर खरीदने के लिए बॉस से मांगे थे 4 करोड़, मना करने पर बनाया प्लान

विजय शेखर शर्मा को ब्लैकमेल करने के मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन तीन आरोपियों में कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट सोनिया धवन भी शामिल है, जो काफी लंबे समय तक विजय शेखर की सेक्रेटरी भी रही थी

Updated On: Oct 24, 2018 10:50 AM IST

FP Staff

0
Paytm ब्लैकमेल केस: घर खरीदने के लिए बॉस से मांगे थे 4 करोड़, मना करने पर बनाया प्लान

पेटीएम कंपनी के संस्थापक विजय शेखर शर्मा को ब्लैकमेल करने के मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन तीन आरोपियों में कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट सोनिया धवन भी शामिल है, जो काफी लंबे समय तक विजय शेखर की सेक्रेटरी भी रही थी.

पुलिस की पूछताछ के दौरान सोनिया ने बताया कि उसने दो महीने पहले घर खरीदने के लिए 4 करोड़ रुपए मांगे थे, लेकिन उसकी मांग को अनसुना कर दिया गया, जिसकी वजह से उसने विजय शेखर को ब्लैकमेल करने का प्लान बनाया.

दरअसल इस मामले में तीन लोगों की गिरफ्तारी नोएडा पुलिस ने सोमवार को की थी. अधिकारियों ने बताया कि इस पूरे मामले की मास्टर माइंड सोनिया धवन ही है. पुलिस को शक है कि सोनिया धवन ने ही शर्मा का डेटा चुराया था. पर्सनल सेक्रेटरी होने के नाते सोनिया विजय शेखर शर्मा के लैपटॉप, फोन और ऑफिस डेस्कटॉप का इस्तेमाल करती थी.

सोनिया के अलावा कंपनी के प्रशासन विभाग का एक अन्य कर्मचारी देवेंद्र कुमार भी इसमें शामिल था. जब पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तार किया तब ये लोग कंपनी के नोएडा ऑफिस में ही मौजूद थे. इस मामले में गिरफ्तार किया गया तीसरा आरोपी सोनिया का पति रुपक जैन है. पुलिस इस मामले में चौथे आरोपी की तलाश कर रही है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक गौतम बुद्ध नगर के एसएसपी अजय पाल शर्मा ने बताया कि 'दो महीने पहले सोनिया ने अपने बॉस से फ्लैट खरीदने के लिए 4 करोड़ रुपए मांगे थे, लेकिन उसके आवेदन को नहीं सुना गया.'

सोनिया के पास थी कंपनी से जुड़ी अहम जानकारी

सेक्टर 20 के एसएचओ मनोज पंत ने कहा कि ' ऐसा लगता है कि सोनिया के पास कंपनी से जुड़ी काफी जानकारियां थी जैसे इतने सालों में कंपनी कैसे आगे बढी. सोनिया ने यह सारी जानकारी देवेंद्र की मदद से निकाली. ऐसा लगता है कि वो इन सारी जानकारियों का इस्तेमाल अपनी खुद की कंपनी शुरू करने में करना चाहती थी.

इस मामले में देवेंद्र ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है लेकिन सोनिया और रुपक अभी भी बेगुनाह होने का दावा कर रहे हैं. देवेंद्र ने बताया कि उसने ही डेटा कॉपी किया था. रुपक ने बताया कि सोनिया ने ही मुझे इस मामले में शामिल किया था और उसने ही मुझे डेटा कॉपी करने के लिए कहा था.

कौन है चौथा आरोपी?

तीनों आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. पुलिस के मुताबिक इस मामले में फरार चौथा आरोपी, रोहित चोमल कोलकाता का रहने वाला है और देवेंद्र का दोस्त भी है. एसएसपी ने बताया कि तीनों आरोपियों ने उसे ये कहकर प्लान में शामिल किया था कि वे विजय शेखर से मिलने वाली रकम में से 20 प्रतिशत हिस्सा उसे देंगे.

पुलिस ने बताया आरोपी रोहित चोमल ने सबसे पहले 20 सितंबर को विजय के भाई अजय को फोन किया था इसके बाद विजय को वाट्सऐप कॉल कर 10 करोड़ रुपए की डिमांड की गई. अजय ने इस मामले में सोमवार को पुलिस में एफआईआर दर्ज काई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi