S M L

मोदी को पवार का पत्र, आर्थिक दिक्कतों के कारण आत्महत्या कर रहे हैं गन्ना किसान

पवार ने प्रधानमंत्री से कहा कि इस स्थिति को दूर करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की जरूरत है ताकि गन्ना किसानों का विद्रोह टाला जा सके

Updated On: Jan 06, 2019 05:36 PM IST

Bhasha

0
मोदी को पवार का पत्र, आर्थिक दिक्कतों के कारण आत्महत्या कर रहे हैं गन्ना किसान

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (आरसीपी) के मुखिया शरद पवार ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर कहा है कि आर्थिक बदहाली के कारण देश में गन्ना किसान आत्महत्या कर रहे हैं. उन्होंने कहा है कि किसानों के व्यापक विद्रोह को टालने के लिए तत्काल कदम उठाना आवश्यक है.

पवार ने छोटे गन्ना किसानों के बीच भारी असंतोष का जिक्र करते हुए किसानों को राहत पहुंचाने के लिए कुछ सुझाव भी दिए हैं. पवार ने कहा है, ‘मैं देशभर में लाखों गन्ना किसानों की बदहाली के कारण एक बार फिर से आपको चिट्ठी लिखने पर बाध्य हुआ हूं.’

उन्होंने रिकॉर्ड चीनी उत्पादन और कम कीमत के मद्देनजर कहा है, ‘चीनी मिलें समय पर तथा पूरा भुगतान नहीं कर पा रही हैं. इससे देशभर में छोटे गन्ना किसानों में व्यापक असंतोष पनप रहा है. इस आर्थिक बदहाली के कारण किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे हैं.’

इस स्थिति को दूर करने के लिए तत्काल कदम उठाने की जरूरत

पवार ने कहा, ‘इस स्थिति को दूर करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की जरूरत है ताकि गन्ना किसानों का विद्रोह टाला जा सके.’ पवार ने चीनी का न्यूनतम समर्थन मूल्य अभी के 29 रुपए से बढ़ाकर 34 रुपए प्रति किलोग्राम करने का सुझाव दिया है.

उन्होंने अनिवार्य चीनी निर्यात का जिक्र करते हुए कहा कि हमारी मिलें सरकार की सब्सिडी के बाद भी निर्यात नहीं कर पा रही हैं. उत्पादन से जुड़ी सब्सिडी के बारे में उन्होंने कहा कि मिलों को यह पैसा समय पर नहीं मिल पा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi