S M L

एयरसेल-मैक्सिस केस: पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर 10 जुलाई तक रोक

कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई अब 10 जुलाई को तय की है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस मामले में कोर्ट से अपना विस्तृत जवाब दाखिल करने के लिए 10 जुलाई तक का समय मांगा है

Updated On: Jun 05, 2018 12:14 PM IST

FP Staff

0
एयरसेल-मैक्सिस केस: पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर 10 जुलाई तक रोक

एयरसेल-मैक्सिस केस में पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम को बड़ी राहत मिली है. दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर 10 जुलाई तक रोक लगा दी है.

कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई 10 जुलाई को तय की है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस मामले में कोर्ट से अपना विस्तृत जवाब दाखिल करने के लिए 10 जुलाई तक का समय मांगा है. बता दें कि एयरसेल-मैक्सिस मामले में कार्ति चिदंबरम के खिलाफ भी 10 जुलाई को कोर्ट में सुनवाई होना मुकर्रर है.

पी चिदंबरम ने कोर्ट में गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी.

अदालत ने 2जी स्पेक्ट्रम मामले से जुड़े एयरसेल-मैक्सिस मामले में वर्ष 2011 और 2012 में सीबीआई और ईडी द्वारा दायर 2 मामलों में चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तारी से पहले ही 10 जुलाई तक अंतरिम राहत दी हुई है. ईडी ने अग्रिम जमानत की मांग करने वाली कार्ति की याचिका पर बहस करने के लिए समय मांगा था जिसके बाद कार्ति को अदालत से राहत मिली थी.

मैक्‍सिस डील मामले में 3 अप्रैल को प्रवर्तन निदेशालय ने सुप्रीम कोर्ट में जांच की स्‍टेटस रिपोर्ट दाखिल की थी. इस मामले में पी चिदंबरम पर गलत तरीके से डील करने का आरोप लगाया गया है. इस मामले की अगली सुनवाई अब 10 जुलाई निर्धारित की गई है.

सीबीआई ने पिछले साल 15 मई को एफआईआर (प्राथमिकी) दर्ज कर आरोप लगाया था कि 2007 में आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपए के विदेशी फंड लेने की एफआईपीबी मंजूरी देने में कथित रुप से अनियमिताएं हुईं. उस वक्त पी चिदंबरम केंद्र सरकार में मंत्री थे. ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर रखा है. सीबीआई 2006 में एयरसेल-मैक्सिस सौदे को एफआईपीबी से मिली अनापत्ति में कथित अनियमितताओं की भी जांच कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi