S M L

भारत की लकड़ियां चीन भेज रही थी पतंजलि, DRI ने की जब्त

जांच एजेंसी ने कहा है कि पूरी जांच होने तक पतंजलि इन सामानों को एक्सपोर्ट नहीं कर सकती है

FP Staff Updated On: Feb 23, 2018 03:36 PM IST

0
भारत की लकड़ियां चीन भेज रही थी पतंजलि, DRI ने की जब्त

बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंच गई है. DRI ने पतंजलि द्वारा चीन भेजी जा रही लाल चंदन की लकड़ियां जब्त कर ली हैं.

इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक DRI और कस्टम डिपार्टमेंट ने लाल चंदन की लकड़ियों के साथ लकड़ियां ले जा रहे पतंजलि के प्रतिनिधि के दस्तावेज और पासपोर्ट भी जब्त कर लिए हैं. पतंजलि के पास ग्रेड-सी की चंदन की लकड़ियों के एक्सपोर्ट करने की इजाजत है.

इस मामले पर पतंजलि ने कहा 'हमने अभी तक एक्सपोर्ट नहीं किया है और यह अभी प्रोसेस में है. हमें लाल चंदन की यह लकड़ियां APFDCL (आंध्र प्रदेश फोरेस्ट डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड' से खरीदी थीं और हमने कुछ भी अवैध और गलत नहीं किया है. सभी काम कानून के हिसाब से किए गए हैं.'

पतंजलि प्रवक्त ने मेल करके इकोनॉमिक टाइम्स को बताया 'एक्सपोर्ट की प्रक्रिया में शामिल में सभी दस्तावेज, परचेज ऑर्डर, परफॉर्मा इनवॉयस, कृष्णपट्टनम पोर्ट पर लकड़ियों की मौजूदगी, लकड़ियों की दर और सी कैटेगरी की लकड़ियों के निर्यात का परमिशन और लाइसेंस उसके पास मौजूद है.'

पतंजलि ने आगे बताया 'APFDCL ने इन सभी चीजों की भी जांच की है. यह विरोधियों की साजिश का नतीजा हो सकता है. कुछ भ्रामक और झूठी जानकारी मतलब के लिए फैलाई जा रही हैं. कहीं भी ए या बी कैटेगरी की लकड़ियों के एक्सपोर्ट का सवाल नहीं है.

जांच एजेंसी ने कहा है कि पूरी जांच होने तक पतंजलि इन सामानों को एक्सपोर्ट नहीं कर सकती है. पतंजलि ग्रुप ने दिल्ली हाईकोर्ट से दरख्वास्त की है कि जब्त लकड़ियों को रिलीज किया जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi