S M L

बाबा रामदेव का किंभो ऐप Google प्ले स्टोर से हुआ गायब, पतंजलि ने बताया षड्यंत्र

पतंजलि आयुर्वेद ने कहा है कि यह स्वदेशी कंपनी के खिलाफ विदेशी कंपनियों (मल्टीनेशनल कंपनियों) की साजिश है. कंपनी ने कहा है कि ऐप की जल्द ही वापसी होगी

Updated On: Aug 17, 2018 09:18 PM IST

FP Staff

0
बाबा रामदेव का किंभो ऐप Google प्ले स्टोर से हुआ गायब, पतंजलि ने बताया षड्यंत्र

बाबा रामदेव की अगुवाई वाली कंपनी पतंजलि आयुर्वेद के मैसेजिंग ऐप Kimbho को गुरुवार को Google Play Store (गूगल प्ले स्टोर) से हटा लिया गया. बाबा रामदेव के मैसेजिंग ऐप Kimbho के बीटा ट्रायल वर्जन को बुधवार को ही प्लेटफॉर्म पर पेश किया गया था. पतंजलि आयुर्वेद ने कहा है कि यह स्वदेशी कंपनी के खिलाफ विदेशी कंपनियों (मल्टीनेशनल कंपनियों) की साजिश है. कंपनी ने कहा है कि ऐप की जल्द ही वापसी होगी.

'Google ने बिना कारण बताए हटा दिया किंभो ऐप'

पतंजलि आयुर्वेद के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने एक ट्वीट में कहा है, 'पतंजलि का किंभो ऐप विदेशी कंपनियों के षडयंत्र का शिकार हुआ है. असुविधा के लिए खेद है. जल्द ही इस ऐप की वापसी होगी.' तिजारावाला ने कहा कि Google ने बिना कोई कारण बताए Kimbho (किंभो) ऐप के ट्रायल वर्जन को हटा दिया है. उन्होंने कहा, 'हम उनके साथ बातचीत कर रहे हैं और यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि इस ऐप को Google प्ले स्टोर से आखिर क्यों हटाया गया.' News18 ने इस संबंध में Google को ई-मेल भेजा, लेकिन उसका कोई जवाब नहीं मिला.

27 अगस्त को लॉन्च होगा किंभो ऐप

पतंजलि आयुर्वेद ने किंभो के ट्रायल वर्जन को बुधवार को डाउनलोड्स के लिए Google प्ले स्टोर पर डाला था. पतंजलि आयुर्वेद ने कहा है कि वह खामियों को दूर करने के बाद 27 अगस्त को किंभो ऐप को अधिकारिक रूप से लॉन्च करेगी. इससे पहले पतंजलि ने 31 मई को किंभो ऐप लॉन्च करने के एक दिन बाद ही इसे Google Play Store और एप्पल के ऐप स्टोर से हटा लिया था. उस समय पतंजलि ने कहा था कि इसे केवल एक दिन के लिए लॉन्च किया गया है. उस समय कई टेक्निकल एक्सपर्ट ने बताया था कि इस ऐप में सिक्योरिटी से जुड़ी कई खामियां हैं. पतंजलि Kimbho ऐप को WhatsApp के प्रतिस्पर्धी के रूप में पेश कर रही है.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi