S M L

Parliament Winter Session: शीतकालीन सत्र आज से शुरू, पीएम ने बहस को सार्थक बनाने की अपील की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार से शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र को लोकहित और देशहित में सार्थक बनाने की अपील की

Updated On: Dec 11, 2018 01:06 PM IST

Bhasha

0
Parliament Winter Session: शीतकालीन सत्र आज से शुरू, पीएम ने बहस को सार्थक बनाने की अपील की

11 दिसंबर से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो चुका है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार से शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र को लोकहित और देशहित में सार्थक बनाने की अपील करते हुए कहा कि लंबित विधायी एजेंडा पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे और सारे अहम विषयों को नतीजे तक पहुंचाएंगे.

सत्र के पहले दिन संसद भवन परिसर में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि सत्र काफी सार्थक रहेगा. यह सत्र महत्‍वपूर्ण है. सरकार की तरफ से कई महत्‍वपूर्ण विषय रहेंगे, जो जनहित के हैं, देशहित के हैं और सभी का यह प्रयास रहे कि हम अधिक से अधिक काम जनहित, लोकहित का और देशहित का कर पाएं.’

मोदी ने कहा कि उन्हें विश्‍वास है कि सदन के सभी सदस्‍य इस भावना का आदर करते हुए आगे बढ़ेंगे. उन्होंने कहा कि 'हमारा निरंतर प्रयास रहा है कि सभी विषयों पर चर्चा हो. खुल करके चर्चा हो, तेज-तर्रार चर्चा हो, तीखी तमतमाती चर्चा हो... लेकिन चर्चा तो हो! वाद हो, विवाद हो, संवाद तो होना ही चाहिए.'

पीएम ने कहा, ‘इसलिए हमारी यह गुजारिश रहेगी, हमारा आग्रह रहेगा कि यह सदन निर्धारित समय से भी अधिक समय काम करे. सारे महत्‍वपूर्ण विषयों को नतीजे तक पहुंचाए.’ उन्होंने कहा कि चर्चा करके उसे और अधिक सार्थक बनाने के लिए, और अधिक मजबूत बनाने के लिए प्रयास हो.'

बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से शुरू होकर आठ जनवरी तक चलेगा. सत्र ऐसे समय में शुरू हुआ है जब पांच राज्यों के चुनाव परिणाम सामने आ रहे हैं. ताजा रूझानों के अनुसार मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में विपक्षी कांग्रेस का प्रदर्शन काफी अच्छा है, जहां बीजेपी सत्ता में थी.

सोमवार को विपक्षी दलों की बैठक हुई थी जिसमें विपक्षी दलों ने राफेल सौदा, सीबीआई एव आरबीआई की स्वायत्तता, किसानों के मुद्दे सहित विभिन्न विषयों पर सरकार को घेरने की रणनीति पर विचार किया था.

हालांकि, परंपरा के अनुसार, राज्यसभा की बैठक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी सहित 15 पूर्व संसद सदस्यों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई.

साथ ही राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने वाजपेयी, चटर्जी, नारायण दत्त तिवारी और कुमार सहित 12 अन्य पूर्व सदस्यों के निधन का उल्लेख किया.

उन्होंने राज्यसभा के पूर्व सदस्यों आर के डोरेन्द्र सिंह, कर्मा टोपडेन, एन हरिकृष्ण, दर्शन सिंह यादव, सत्य प्रकाश मालवीय, प्रो. रामदेव भंडारी, मालती शर्मा और बैष्णव परीदा, वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर, रत्नाकर पांडे और पी के माहेश्वरी के निधन की भी जानकारी सदन को दी. सदन ने सभी दिवंगत सदस्यों के प्रति सम्मान में कुछ पल का मौन रखा. इसके बाद नायडू ने सदन की बैठक को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया.

इस दौरान सदन में नेता सदन अरुण जेटली, नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्रियों निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, विजय गोयल और रविशंकर प्रसाद सहित सत्तापक्ष और विपक्षी दलों के वरिष्ठ नेता मौजूद थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi