S M L

तीन तलाक बिल का मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड ने किया स्वागत

संसद के इसी शीतकालीन सत्र में कैबिनेट द्वारा मंजूर किए गए तीन तलाक बिल के ड्राफ्ट को पेश किया जाएगा

Updated On: Dec 15, 2017 04:59 PM IST

FP Staff

0
तीन तलाक बिल का मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड ने किया स्वागत

केंद्रीय कैबिनेट ने शुक्रवार को तीन तलाक संबंधी बिल को  मंजूरी दे दी है. केंद्र सरकार के इस फैसले पर ऑल इंडिया मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड ने खुशी जाहिर की है और इसे मुस्लिम महिलाओं के हित में उठाया गया बड़ा कदम बताया है.

ऑल इंडिया मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड की शाइस्ता अंबर ने कहा कि हम सरकार के इस कदम का स्वागत करते हैं. पिछली सरकारों की से अलग हटकर इस सरकार को मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की परवाह है. हम सभी पार्टियों से अपील करते हैं कि वे संसद से इस बिल को पास करने में मदद करें.

संसद के इसी शीतकालीन सत्र में कैबिनेट द्वारा मंजूर किए गए इस बिल के ड्राफ्ट को पेश किया जाएगा. केंद्र ने सभी राज्यों से इस बिल को भेजकर उनकी राय भी मांगी थी. इस बिल के तहत एक बार में तीन तलाक देने वालों को तीन साल तक की सजा हो सकती है. इसके अलावा यह एक गैरजमानती अपराध होगा. यह कानून जम्मू-कश्मीर में लागू नहीं होगा.

कुछ महीने पहले ही तत्कालीन चीफ जस्टिस जेएस खेहर की अध्यक्षता वाली बेंच ने एक साथ तीन तलाक बोल कर शादी खत्म करने पर 6 महीने के लिए रोक लगा दी थी और केंद्र सरकार को कहा था कि वह इस मामले पर कानून बनाए.

उन्होंने कहा था कि यह एक धार्मिक प्रैक्टिस है इसलिए कोर्ट इसमें दखल नहीं देगा. हालांकि उन्होंने इसे पाप जरूर माना था और सरकार से दखल देने को कहा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi