S M L

ParikshaPeCharcha 2: पीएम मोदी ने कहा- बच्चों को डांटते रहना ठीक नहीं

प्रधानमंत्री दिल्‍ली के तालकटोरा स्टेडियम में विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ परीक्षा पे चर्चा की

Updated On: Jan 29, 2019 05:19 PM IST

FP Staff

0
ParikshaPeCharcha 2: पीएम मोदी ने कहा- बच्चों को डांटते रहना ठीक नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्‍ली के तालकटोरा स्टेडियम में विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ 'परीक्षा पे चर्चा' की. इस कार्यक्रम में 24 राज्यों से बच्चे आए हैं. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्चों से कहा कि मेरे लिए ये कार्यक्रम किसी को उपदेश देने के लिए नहीं है. मैं यहां आपके बीच खुद को अपने जैसा, आपके जैसा और आपके स्थिति जैसा जीना चाहता हूँ, जैसा आप जीते है.

उन्होंने कहा कि अगर हम अपने आपको कसौटी के तराजू पर झौकेंगे नहीं तो जिंदगी में ठहराव आ जाएगा. जिंदगी का मतलब ही होता है गति, जिन्दगी का मतलब ही होता है सपने. जिंदगी का मतलब जी-जान से लगे रहना होता है. मां-बाप जो कहें उसे गौर से सुनना चाहिए, क्योंकि जब बच्चे गिरते हैं तो मां-बाप ही उन्हें संभालते हैं. लेकिन अभिभावकों को भी समझना होगा कि उनके प्रैशर के कारण ही बात बिगड़ती है. बच्चों को डांटते रहना ठीक नहीं है. उनकी गलतियों को प्यार से सुधारे.

बच्चों से बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा, एक कविता में लिखा है कि, 'कुछ खिलौनों के टूटने से बचपन नहीं मरा करता है.' इसमें सबके लिए बहुत बड़ा संदेश छुपा है. उन्होंने कहा, निराशा में डूबा समाज, परिवार या व्यक्ति किसी का भला नहीं कर सकता है, आशा और अपेक्षा उर्ध्व गति के लिए अनिवार्य होती है.

तमिलनाडु के छात्र नरेंद्र ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा कि आप टाइम कैसे मैनेज करते हैं. इसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि हर किसी को भगवान ने 24 घंटे दिए हैं. सबको टाइम मैनेज करना आना चाहिए. टाइम मैनेजमेंट के बिना आगे नहीं बढ़ सकते. जो सफल लोग होते हैं, उन पर समय का दबाव नहीं होता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उन्होंने अपने समय की कीमत समझी होती है.

एक अन्य सवाल में पीएम मोदी से पूछा गया कि आप इतने ऊर्जावान कैसे रहते हैं. इस पर उन्होंने कहा कि जब मन में अपनेपन का भाव पैदा हो जाता है तो फिर शरीर में ऊर्जा अपने आप आती है और थकान कभी घर का दरवाजा नहीं देखती है. मेरे लिए भी देश के सवा सौ करोड़ देशवासी मेरा परिवार है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi