विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

परेश रावल : ऐसा कलाकार जिसका हर किरदार यादगार

अपने फिल्मी करियर में अनगिनत किरदार निभाने वाले परेश रावल ने अदाकारी की मिसाल कायम की है

Sunita Pandey Updated On: May 30, 2017 05:44 PM IST

0
परेश रावल : ऐसा कलाकार जिसका हर किरदार यादगार

परेश रावल का नाम जेहन में आते ही दर्शकों के दिल में दो तरह के किरदार एक साथ सामने आ जाते हैं. एक फिल्म 'हेरा फेरी' का मसखरा बाबूराव गणपत राव आप्टे और दूसरा राम गोपाल वर्मा की फिल्म 'दौड़' के पिंकी का. ये दोनों ही किरदार दो धाराओं का प्रतिनिधित्व करते हैं.

परेश रावल के व्यक्तित्व का एक तीसरा पहलू भी जो अभी हाल ही में तब दिखा जब उन्होंने कश्मीर के पत्थरबाजों की जगह लेखिका अरुंधति रॉय को जीप के आगे बांधने की सलाह दे डाली.

ये एक ठेठ नेता का ऐसा किरदार था जिसे परेश रावल जैसे हरदिल अजीज अभिनेता ने निभाकर अपनी छवि को खुद ही तहस-नहस कर दिया. बहरहाल, उनके जन्मदिन के मौके पर उनकी जीवनी पर एक नजर.

30 मई, 1950 को मुंबई में जन्में परेश रावल आज अपना 67 वां जन्मदिन मना रहे हैं. परेश पहले इंजीनियर बनना चाहते थे, लेकिन उन्‍हें अभिनय ज्यादा पसंद था. लगभग 22 वर्ष की उम्र में पढ़ाई पूरी करने के बाद वे सिविल इंजीनियर के रूप में काम पाने के लिए संघर्ष करने लगे.

लेकिन इसी बीच उन्हें केतन मेहता की फिल्म 'होली' में काम करने का मौका मिल गया और उनके फिल्मी करियर की शुरुआत हो गई. 1986 में आई महेश भट्ट की फिल्म 'नाम' की जबरदस्त सफलता ने उन्हें बॉलीवुड में स्थापित कर दिया.

बतौर अभिनेता परेश रावल की खासियत उनकी फिल्मों की संख्या में नहीं बल्कि उनके द्वारा निभाए गए किरदारों में है. अपने पूरे करियर में उन्होंने विलेन, कॉमेडियन, हीरो सभी तरह के किरदार निभाए लेकिन उन्हें कुछ खास किरदारों के लिए हमेशा याद किया जाएगा. डालते हैं नजर परेश रावल के उन किरदारों पर जिनकी वजह से वो सुर्खियों में रहे...

बाबू राव गणपत आप्टे (हेरा फेरी)

baburao

फिल्म 'हेरा फेरी' का ये किरदार इतना जबरदस्त था कि इसके सामने अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी का स्टारडम भी फीका पड़ गया. मोटे फ्रेम का चश्मा, मराठी मिश्रित हिंदी और संवाद अदायगी का दिलचस्प अंदाज लोगों को खूब भाया. फिल्म हिट रही और इसका पूरा क्रेडिट परेश रावल ले उड़े.

इलियास (आंखें)

paresh rawal

निर्देशक विपुल शाह की इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, अर्जुन रामपाल जैसे सितारों की भरमार थी, लेकिन परेश रावल सितारों से भरी इस फिल्म में बाजी मार ले गए. इस फिल्म में उन्होंने इलियास का रोल प्ले किया था जो तीन ब्लाइंड बैंक रॉबर्स में से एक था. इस फिल्म में परेश सभी स्टार्स पर भारी पड़ते नजर आये.

हसमुख लाल (जुदाई)

paresh rawal

निर्माता बोनी कपूर की फिल्म जुदाई में परेश रावल ने हसमुख लाल नाम के एक मकान मालिक का किरदार निभाया था, जिसे बाल की खाल निकालने की आदत है. ये किरदार हिंदी सिनेमा का सबसे पावरफुल कॉमिक किरदार माना जाता है. परेश रावल ने इस फिल्म से कॉमेडी की नयी परिभाषा गढ़ी बावजूद उनकी इमेज एक गंभीर अभिनेता की रही है.

कांजी लाल जी मेहता (ओह माय गॉड)

omg

2012 में परेश रावल उमेश शुक्ला की फिल्म 'ओह माय गॉड' से पहली बार किसी फिल्म में लीड रोल में नजर आए. इस फिल्म में उन्होंने कांजी लाल जी मेहता नामक ऐसे बिजनेसमेन का रोल निभाया जो अपने नुकसान की भरपाई के लिए खुद भगवान् को अदालत में खींच लाता है. विषय और ट्रीटमेंट के लिहाज से ये एकदम नया प्रयोग था. सबसे हैरत की बात ये रही कि फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर कामयाबी का झंडा गाड़ दिया. बतौर अभिनेता ये परेश रावल का कैलिवर ही था, जिसने इस शुष्क विषय को दर्शकों के लिए ग्राह्य बना दिया.

हीरो पर भारी रहे परेश रावल

एक अभिनेता के रूप में परेश रावल ने जितनी फिल्में की उनमें से ज्यादातर फिल्मों में अपने हीरो पर भारी पड़ते नजर आए. कहा जाता है कि 'हेरा फेरी' के बाद कई बड़े सितारे उनके साथ काम करने से कन्नी काटने लगे. परेश रावल की एक्टिंग स्किल के सामने उनका हर किरदार छोटा नजर आता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi