S M L

कश्मीर: बाज नहीं आ रहा पाक, इस साल 100 बार तोड़ा सीजफायर

शनिवार को जम्मू-कश्मीर के आरएसपुरा और अखनूर सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर तोड़ने की खबरें हैं

FP Staff Updated On: Jan 20, 2018 11:55 AM IST

0
कश्मीर: बाज नहीं आ रहा पाक, इस साल 100 बार तोड़ा सीजफायर

जम्मू-कश्मीर के आरएसपुरा और अखनूर सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर तोड़ने की खबरें हैं. उधर, सुंदरबनी में पाकिस्तान की गोलाबारी में बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया है.

साल 2018 में अब तक नियंत्रण रेखा पर (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की ओर से 100 बार से ज्यादा सीजफायर उल्लंघन की घटनाएं दर्ज हुई हैं.

पाकिस्तान नहीं मानता नियम-कानून

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, सरहद पर लगातार भारतीय निर्दोष लोगों को निशाना बनाए जाने के खिलाफ पाकिस्तानी अधिकारियों को सूचित कर दिया गया है और कहा गया है कि सीमा पार लोगों पर फायरिंग करना मानवीय नियमों और प्रथाओं के खिलाफ है.

विदेश मंत्रालय ने बताया, पाकिस्तान को 2003 सीजफायर कानूनों का पालन करने के लिए कहा गया है ताकि एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अमन-चैन कायम रह सके.

पाकिस्तानी उप-उच्चायुक्त को समन

पाकिस्तानी सेना की ओर से लगातार भारतीय नागरिकों को निशाना बनाए जाने को लेकर विदेश मंत्रालय ने वहां के उप-उच्चायुक्त सैयद हैदर शाह को समन किया. विदेश मंत्रालय ने सरहद पर जारी तनातनी के बारे में पाक उप-उच्चायुक्त के सामने अपनी गंभीर चिंता जाहिर की.

दो सैनिकों, दो नागरिकों की मौत

इससे पहले पाकिस्तानी सैनिकों ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा से लगे जम्मू कश्मीर के चार जिलों में सीमा चौकियों और रिहाइसी इलाकों पर गोलिबारी की थी, जिसमें सुरक्षाबलों के दो जवान और दो आम लोगों की मौत हो गई थी. पाकिस्तानी गोलीबारी में 35 लोग घायल भी हुए हैं.

सेना के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि पाकिस्तानी सेना ने शाम साढ़े छह बजे से नियंत्रण रेखा पर सुंदरबनी सेक्टर में बगैर उकसावे के छोटे हथियारों, स्वचालित हथियारों और मोर्टार से अंधाधुंध फायरिंग की. इस पर, भारतीय जवानों ने जोरदार जवाब दिया. उन्होंने बताया कि दोनों ओर से हुई गोलीबारी में लांसनाइक सैम अब्राहम शहीद हो गए. वह केरल के रहने वाले थे.

गांवों को बना रहे निशाना

बीएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को पाकिस्तानी रेंजर्स ने बगैर उकसावे के अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आरएस पुरा, अरनिया और रामगढ़ सेक्टरों में कई इलाकों में सुबह छह बज कर 40 मिनट से फायरिंग और गोलाबारी की. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय सीमा के 50 किमी के दायरे में सीमा चौकियों और गांवों को निशाना बनाया.

उन्होंने बताया कि फायरिंग और गोलाबारी शुक्रवार दोपहर में कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर भी फैल गई. अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने तीन सेक्टरों में 45 सीमा चौकियों को निशाना बनाया. बीएसएफ ने इस गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है.

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सांबा सेक्टर पर दोनों ओर से गोलीबारी के दौरान घायल हुए बीएसएफ के हेड कांस्टेबल जगपाल सिंह की मौत हो गई. वहीं, दो अन्य जवान घायल हो गए.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों की भारी गोलाबारी के जरिए अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कठुआ, सांबा और जम्मू जिलों के अरनिया, आरएस पुरा, रामगढ़, सांबा और हीरानगर सेक्टरों में 50 से अधिक गांवों को निशाना बनाया गया. पाकिस्तानी फायरिंग और गोलाबारी में दो नागरिक मारे गए जबकि 32 नागरिक घायल हो गए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi