विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

पाक ने ठुकराई भारत की मांग: कहा, मुंबई अटैक की दोबारा जांच संभव नहीं

पाकिस्तान ने कहा कि, मुकदमा निर्णायक चरण में पहुंच चुका इसलिए फिर से जांच कराना मुमकिन नहीं

Bhasha Updated On: Apr 27, 2017 09:03 PM IST

0
पाक ने ठुकराई भारत की मांग: कहा, मुंबई अटैक की दोबारा जांच संभव नहीं

पाकिस्तान ने भारत की मांग को ठुकराते हुए कहा है कि, मुंबई अटैक मामले की जांच फिर से ‘संभव नहीं' है. क्योंकि मुकदमे की सुनवाई आगे बढ़ चुकी है. पाकिस्तान ने 26/11 हमले के मुख्य साजिशकर्ता हाफ़िज सईद के खिलाफ ‘ठोस' सबूत की मांग की.

इस मामले में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए पत्राचार की जानकारी रखने वाले एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि, भारत की 2008 के मामले की नये सिरे से जांच और जमात-उद-दावा प्रमुख हाफ़िज सईद पर मुकदमा चलाने की मांग के जवाब में पाकिस्तान ने कहा कि, मुकदमा अब निर्णायक चरण में पहुंच चुका है.'

Hafiz Saeed

भारत आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के चीफ हाफ़िज सईद को मुंबई अटैक का मास्टरमाइंड मानता है (फोटो: रॉयटर्स)

बयान दर्ज करवाने गवाहों को पाकिस्तान भेजना चाहिए

अधिकारी ने कहा, ‘मामले में सभी कार्यवाही तय की जा चुकी हैं, सिवाय 24 भारतीय गवाहों के बयान दर्ज होने के. इस हालात में फिर से जांच संभव नहीं है. इस मामले में अगर भारत नतीजे चाहता है तो उसे अपने गवाहों को बयान दर्ज करवाने के लिए पाकिस्तान भेजना चाहिए.'

पाकिस्तान के आतंकवाद विरोधी कानून के तहत सईद और उसके चार साथी 30 जनवरी से लाहौर में नजरबंद हैं. अमेरिका ने सईद के सिर पर एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है.

जमात उद दावा प्रमुख को इससे पहले मुंबई हमले के बाद भी नजरबंद किया गया था. लेकिन, सबूतों के अभाव में 2009 में एक अदालत ने उसे बरी कर दिया. इस मामले में उसके खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए पाकिस्तान ने भारत से ‘ठोस' सबूतों की मांग की है.

भारत से ठोस सबूत मिलने पर हाफ़िज सईद पर चलाएंगे मुकदमा

अधिकारी ने पाकिस्तान सरकार की प्रतिक्रिया को उद्धृत करते हुए कहा, ‘भारत ने डॉजियर में सिर्फ अजमल कसाब (इकलौता जिंदा पकड़ा गया आतंकवादी) का जिक्र किया है कि, वह एक बार हाफ़िज सईद से मिला था. उनसे (सईद से) हजारों लोग मिलते हैं. इससे कुछ साबित नहीं होता. अगर भारत इस मामले में उनके खिलाफ ठोस सबूत देता है तो पाकिस्तान 26/11 मामले में सईद के खिलाफ मुकदमा चलाने की इच्छा रखता है.'

Azmal Kasab Terrorist

मुंबई हमले में जिंदा पकड़े गए पाकिस्तानी हमलावर अजमल कसाब को कोर्ट के फैसले के बाद फांसी दे दी गई (फोटो: रॉयटर्स)

उन्होंने कहा कि, पाकिस्तान ने भारत को यह साफ कर दिया है कि मुंबई हमले का मामला भारत के सहयोग के बिना अपने तार्किक अंजाम तक नहीं पहुंच सकता. उन्होंने कहा, ‘इसके नतीजे के लिए भारत को अपने 24 गवाहों को गवाही देने के लिए पाकिस्तान भेजना होगा.'

पाकिस्तान में मुंबई हमले का मुकदमा पिछले सात साल से लंबित है. भारत ने पाकिस्तान से मुकदमे को जल्द से जल्द पूरा करने को कहा है. भारत का कहना है कि उसने आरोपियों को सजा दिलाने के लिए पाकिस्तान के साथ पर्याप्त सबूत साझा किये हैं

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi