S M L

'नाम पद्मावत करने से नहीं होगा कुछ, रिलीज हुई तो देश जलेगा'

करणी सेना की ओर से कहा गया है कि पद्मावती फिल्म बैन होनी चाहिए. अगर फिल्म रिलीज हुई तो पूरा देश जलेगा.

FP Staff Updated On: Jan 05, 2018 05:00 PM IST

0
'नाम पद्मावत करने से नहीं होगा कुछ, रिलीज हुई तो देश जलेगा'

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने कहा है कि वो 'पद्मावती' फिल्म का विरोध करते रहेंगे और साथ ही सीबीएफसी चीफ प्रसून जोशी, सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और खेल मंत्री राजवर्धन सिंह राठौर के इत्सीफे की मांग भी जारी रखेंगे. राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के नेता सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने कहा कि पद्मावती के खिलाफ पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा और सेंट्रसल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (CBFC) प्रमुख प्रसून जोशी के पुतले फूंके जाएंगे.

उन्होंने आगे कहा कि राजवर्धन सिंह राठौर को भी फिल्म के विरोध में जारी प्रदर्शन में हिस्सा लेना चाहिए, क्योंकि वो उस धरती से जुड़े हैं, जहां से रानी पद्मावती ताल्लुक रखती हैं. इसके अलावा राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की ओर से कहा गया है कि पद्मावती फिल्म बैन होनी चाहिए. अगर फिल्म रिलीज हुई तो पूरा देश जलेगा. सिर्फ फिल्म का नाम बदलने से कोई फायदा नहीं होगा. हम 19 राज्यों में प्रदर्शन करेंगे. रणवीर सिंह-दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म पद्मावती की रिलीज पर राजस्थान, गुजरात, हरियाणा और कुछ अन्य राज्यों ने पहले ही प्रतिबंध लगा रखा है.

बता दें कि 30 दिसंबर को पद्मावती फिल्म के निर्माता को सेंसर बोर्ड की तरफ से बड़ी राहत मिली थी. सीबीएफसी की जांच कमेटी ने 28 दिसंबर को पद्मावती का रिव्यू किया. जिसके बाद फिल्म को कुछ बदलाव के साथ यूए सर्टिफिकेट देने का फैसला किया और फिल्म का नाम 'पद्मावत' करने का सुझाव भी दिया. सेंसर बोर्ड का कहना था कि समाज और फिल्म निर्माता दोनों को ध्यान में रखते हुए फैसला लिया गया.

सीबीएफसी ने फिल्म को सर्टिफिकेशन देने से पहले एक एक्सपर्ट पैनल को फिल्म दिखाई. सूत्रों के मुताबिक, एक्सपर्ट पैनल ने पद्मावती फिल्म में कई चीजों को लेकर ऐतराज जताया. इस पैनल में उदयपुर के अरविंद सिंह और जयपुर विश्वविद्यालय के डॉ.चंद्रमणि सिंह और प्रोफेसर के.के. सिंह शामिल थे. संजय लीला भंसाली की यह विवादित फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी लेकिन देश भर के राजपूत संगठनों के भारी विरोध के बाद इसके रिलीज पर रोक लगा दी गई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi