S M L

गैस की नई दर से ONGC को सिर्फ लागत बराबर होने भर की उम्मीद

शंकर ने बताया कि 2017-18 में उनकी गैस की औसत उत्पादन लागत 3.59 डॉलर प्रति इकाई रही जो इस वर्ष कम हो सकती है और नई दर से उत्पादन लागत केवल बराबर भर हो सकेगी

Updated On: Sep 29, 2018 09:06 PM IST

Bhasha

0
गैस की नई दर से ONGC को सिर्फ लागत बराबर होने भर की उम्मीद

तेल एवं गैस खनन क्षेत्र की प्रमुख कंपनी ओएनजीसी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शशि शंकर ने कहा कि एक अक्टूबर से लागू होने वाली प्राकृतिक गैसों की नई कीमतों से किसी तरह उसकी उत्पादन लागत निकल जाएगी. सरकार ने प्राकृतिक गैस का खरीद मूल्य अगले छह माह के लिए 10 प्रतिशत बढ़ा दिया है. जो एक अक्टूबर से लागू होगा. नई कीमत 3.36 डॉलर प्रति इकाई (एमएमबीटीयू) तय की गई है.

शंकर ने बताया कि 2017-18 में उनकी गैस की औसत उत्पादन लागत 3.59 डॉलर प्रति इकाई रही जो इस वर्ष कम हो सकती है और नई दर से उत्पादन लागत केवल बराबर भर हो सकेगी. उन्होंने कहा, ‘चालू वित्त वर्ष में सेवाओं की लागत कम होने से गैस की उत्पादन लागत कुछ कम हो सकती है. गैस की नई कीमतों के बाद उसकी उत्पादन लागत निकल आने की संभावना है.’

शंकर ने कहा कि 2016-17 में ओएनजीसी की औसत उत्पादन लागत 3.10 डॉलर प्रति इकाई थी. जबकि बिक्री से प्राप्त आय कम पड़ रही थी. ओएनजीसी लंबे समय से गैस कीमतें कम होने की शिकायत कर रही थी. सरकार द्वारा अक्टूबर 2014 में मंजूर की गई नई प्रणाली के तहत अब देश में उत्पादित प्राकृतिक गैस की दर कुछ खास विदेशी गैस निर्यात केंद्रों पर प्रचलित कीमतों के आधार पर हर छह महीने में संशोधित की जाती हैं. संशोधित दरें एक अप्रैल और एक अक्टूबर को लागू की जाती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi