S M L

गणतंत्र दिवस पर अक्षरधाम मंदिर पर हमले की साजिश का पर्दाफाश, संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

पुलिस ने गिरफ्तार संदिग्ध की निशानदेही पर उसके दो साथियों की तलाश में दिल्ली के जामा मस्जिद इलाके के दो होटलों में छापेमारी की है

Updated On: Jan 08, 2018 10:06 AM IST

FP Staff

0
गणतंत्र दिवस पर अक्षरधाम मंदिर पर हमले की साजिश का पर्दाफाश, संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

आने वाले गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के मशहूर अक्षरधाम मंदिर को निशाना बनाए जाने की साजिश का पर्दाफाश हुआ है. पुलिस ने रविवार को मथुरा से एक संदिग्ध आतंकवादी को निजामुद्दीन-भोपाल ट्रेन से हिरासत में लिया है.

पुलिस की पूछताछ में आतंक की इस साजिश का खुलासा हुआ है. संदिग्ध ने बताया कि वो और उसके दो साथी 26 जनवरी को अक्षरधाम मंदिर पर हमले की साजिश रच रहे थे.

यूपी एटीएस ने दिल्ली पुलिस को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद उन्होंने संदिग्ध के साथियों की तलाश में रविवार को कई जगहों पर छापेमारी की. स्पेशल सेल और आईबी भी इस ऑपरेशन में जुट गई हैं.

बताया जा रहा है कि ट्रेन के टीटी ने संदिग्ध की हरकतों पर संदेह होने पर जीआरपी को इसकी सूचना दी. जीआरपी ने आरोपी संदिग्ध को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो वो सबकी आंखों में धूल झोंकने के लिए पागलों जैसा बर्ताव करने लगा. इसके बाद जीआरपी ने यूपी एटीएस को इसकी जानकारी दी.

पूछताछ में पता चला कि संदिग्ध का नाम बिलाल अहमद वागय है और वो जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग का रहने वाला है. उसने बताया कि वह और उसके दो कश्मीरी साथी 26 जनवरी के कार्यक्रम और अक्षरधाम मंदिर को निशाना बनाने की तैयारी कर रहे थे. उसके ये दोनों साथी दिल्ली के जामा मस्जिद के पास दो होटलों में रुके हुए हैं. बिलाल ने बताया कि दिल्ली छोड़ने से पहले वो भी इन होटलों में ठहरा था.

जामा मस्जिद इलाके के दो होटलों में पुलिस की छापामारी

यूपी एटीएस ने फौरन इसकी जानकारी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को दी. इसके बाद स्पेशल सेल और यूपी एटीएस ने मिलकर जामा मस्जिद इलाके के दो होटलों जमजम रेस्टोरेंट और अल राशिद होटल में छापेमारी की. जांच में पता चला कि बिलाल ने जिन दो संदिग्धों के नाम बताए थे वो अल राशिद होटल में दो-तीन दिन से ठहरे हुए थे, लेकिन बीते शनिवार की सुबह दोनों वहां से चले गए.

पुलिस ने होटल का सीसीटीवी फुटेज और दोनों संदिधों के पहचान पत्र जब्त कर लिए हैं. जांच एजेंसियों के मुताबिक अभी यह साफ नहीं है कि ये सभी किसी आतंकी गतिविधि से जुड़े हैं. बिलाल के पास से हथियार या कोई आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ है.

गणतंत्र दिवस को लेकर दिल्ली और उससे सटे इलाकों में विशेष चौकसी बरती जा रही है. दिल्ली और कई राज्यों में फरार दोनों संदिग्धों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है. कश्मीर पुलिस को भी इस बारे में जानकारी दे दी गई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi