S M L

रेवाड़ी गैंगरेपः 3 आरोपियों में से एक गिरफ्तार, पीड़ित छात्रा की हालत में हो रहा सुधार

रेवाड़ी के नए एसपी राहुल शर्मा ने कहा है कि उन्होंने पीड़ित छात्रा से मुलाकात की और घटनास्ठल की भी जांच की है, जल्द ही वह एसआईटी से भी मिलेंगे

Updated On: Sep 17, 2018 01:43 PM IST

FP Staff

0
रेवाड़ी गैंगरेपः 3 आरोपियों में से एक गिरफ्तार, पीड़ित छात्रा की हालत में हो रहा सुधार

रेवाड़ी गैंगरेप मामले में हर रोज कोई ने कोई नया खुलासा हो रहा है. कई नए राज सामने आ रहे हैं. इसी बीच एक और बड़ी खबर सामने आई है कि हरियाणा पुलिस ने तीन मुख्य आरोपियों में से एक को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आरोपी का नाम नीशू है. पुलिस ने बताया कि नीशू को रेवाड़ी इलाके के एक गांव से गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे बाकी दो साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है. बता दें कि इस मामले के दो अन्य आरोपी अब भी फरार हैं. इस बीच रेवाड़ी के नए एसपी राहुल शर्मा ने कहा है कि उन्होंने पीड़ित छात्रा से मुलाकात की और घटनास्ठल की भी जांच की है. जल्द ही वह एसआईटी से भी मिलेंगे. उन्होंने कहा कि जैसे ही इस मामले में कोई बड़ी बात सामने आती है तो उसको अपडेट किया जाएगा.

एसपी ने बताया कि तीनों आरोपियों में से एक की गिरफ्तारी हो चुकी है और बाकी दोनों की तलाश जारी है. इसके साथ उन्होंने कहा कि फिलहाल पीड़िता की सुरक्षा पुलिस का पहला उद्देश्य है और आरोपियों को पकड़ना दूसरा. आरोपियों को गिरफ्तार करने से ही नहीं होगा उन्हें सजा दिलाना भी जरूरी है. इसलिए सबूतों को सुरक्षित रखते हुए इस बात पर ध्यान दिया जाएगा कि फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए उन्हें जल्द से जल्द सजा सुनाई जाए. वहीं रेप पीड़त छात्रा के स्वास्थ्य को लेकर रेवाड़ी जिला अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेनडेंट सुदर्शन पंवार ने बताया कि पीड़िता की हालत अब सुधर रही है. वह ट्रॉमा से बाहर आने की पूरी कोशिश कर रही है.

2 लोगों की पहले हो चुकी है गिरफ्तारी

आपको बता दें कि इससे पहले इस मामले में 2 और लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है जिनमें एक डॉक्टर और एक मकान मालिक शामिल हैं. रविवार शाम को नूह की एसपी नाजनीन भसीन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया था कि इस पूरे हादसे की पहले से प्लानिंग हो गई थी. भसीन ने बताया कि उस डॉक्टर को हादसे के बारे में पता था पर उसने पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी. इसके अलावा कमरा किराए पर देने वाले उस मकान मालिक दीनदयाल को भी पता था कि वहां रेप हुआ है. मोबाइल फॉरेंसिक के अनुसार नीशू बार-बार उस मकान मालिक से रेप किए जाने वाले घर के किराए को लेकर बात कर रहा था.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने जताया दुख

वहीं राज्य सरकार ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए रविवार को रेवाड़ी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) राजेश दुग्गल को हटा दिया. उनकी जगह राहुल शर्मा को जिले का नया एसपी बनाया गया. दूसरी तरफ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने घटना पर कहा, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आरोपी और पीड़ित एक दूसरे को पहले से जानते थे. यह और भी दुर्भाग्यपूर्ण है कि आरोपियों में से एक सेना का जवान है. उनकी तलाश जारी है. जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा.' खट्टर ने कहा कि आरोपियों का पता और सुराग बताने वाले को 1 लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा.

पीड़िता की मां को दिया जा रहा था 2 लाख रुपए का चेक

वहीं रेप पीड़िता की मां ने बताया था कि शनिवार को कुछ अधिकारी उनके पास 2 लाख रुपए के मुआवजे का चेक लेकर पहुंचे थे लेकिन उन्होंने उसे वापस कर दिया. उनका कहना है कि उन लोगों को न्याय चाहिए पैसे नहीं. पीड़िता की मां ने बीते शुक्रवार को पुलिस की नजरअंदाजी से हताश होकर एक वीडियो के जरिए अपना दर्द बयां किया था. उन्होंने कहा था- मोदी जी कहते हैं बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ, लेकिन कैसे? मेरी बेटी तो पढ़ने ही गई थी. कोचिंग के रास्ते से उसे किडनैप कर लिया गया. किडनैप कर के मेरी बेटी को शाम 4 बजे बस स्टैंड पर नशे की हालत में छोड़कर पंकज और मनीष भाग गए थे. दोनों ही लड़के मेरी बेटी को उठाकर ले गए थे. वो उसको दूर के गांव में ले गए जहां और भी बच्चे थे. उन सभी ने मेरी बच्ची के साथ बहुत बुरा हाल किया. मोदी जी कहते हैं बेटी को पढ़ाएं, कहां से पढ़ाएं, कैसे पढ़ाएं, मेरी बेटी को न्याय दिलाओ. उन्होंने कहा था- पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही. मेरी बेटी घटना के चलते सदमे में है और आरोपी घटना के बाद 'खुलेआम घूम रहे हैं'.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi