S M L

नोटबंदी: डाकघर में जमा हुए 1 अरब, बैंक लेने को तैयार नहीं

बिहार के छपरा में इन दिनों एक अरब के अमान्य कैश को लेकर डाकघर के अफसर परेशान हैं.

Updated On: Dec 22, 2016 10:39 PM IST

FP Staff

0
नोटबंदी: डाकघर में जमा हुए 1 अरब, बैंक लेने को तैयार नहीं

नोटबंदी के बाद अमान्य नोटों को लेकर आम लोगों की परेशानी को तो पूरे देश ने देखा लेकिन बिहार के छपरा में इन दिनों एक अरब के अमान्य कैश को लेकर डाकघर के अफसर परेशान हैं.

दरअसल एसबीआई ने इस अमान्य कैश को करेंसी चेस्ट में लेने से इनकार कर दिया है. अब मुख्य डाकपाल एक अरब का अमान्य कैश लेकर बैंक के चक्कर काट रहे है.

छपरा के मुख्य डाकघर में शायद इतनी रकम कभी नहीं आई होगी. नोटबंदी के बाद ग्राहकों ने यहां छप्पर फाड़कर अमान्य नोट जमा किए और यह रकम एक अरब का आंकड़ा पार कर गया.

आरबीआई के निर्देश का इंतजार  

अब हालत यह है कि डाकघर में इस अमान्य कैश के साथ ही मान्य कैश को भी रखने की जगह नहीं है. परेशान डाकपाल ने इस कैश को एसबीआई के करेंसी चेस्ट में जमा करने की कई कोशिशें की. लेकिन एसबीआई ने एक अरब के इस अमान्य रकम को जमा करने में हाथ खड़े कर दिए.

उधर एसबीआई ने पैसे जमा करने से इनकार के पिछे डाकघर की लेटलतीफी को ही कारण बताया है. क्षेत्रीय प्रबंधक आर एन चौधरी ने बताया कि ऐसे रकम के लिए आरबीआई ने पांच दिसंबर से तेरह दिसंबर तक एक स्कीम के तहत कैश जमा करने का निर्देश वित्तीय संस्थानों को दिया था.

लेकिन डाकघर के अफसर इस दौरान सोए रहे और अब एक अरब रकम एकत्र होने पर जमा करने का दबाव बना रहे हैं. उन्होंने बताया कि इस मामले में वे स्वयं आरबीआई के संपर्क में है.

बहरहाल एसबीआई ने इस मामले में नियम का हवाला देकर डाकघर की मुश्किलें जरुर बढ़ा दी है. ऐसे में डाकघर के लिए आरबीआई के निर्देश ही मददगार साबित हो सकते हैं. इसका डाकघर के अफसर बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.

साभार: प्रदेश18

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi