S M L

पीएम मोदी ने जिसकी तारीफ की थी, उस 'फ्लाइंग गर्ल' ने हासिल किया अब यह मुकाम

तनुप्रिया सिंह अपने पिता के साथ 1500 मीटर की ऊंचाई से छलांग लगाने वाली देश की इकलौती महिला हैं

FP Staff Updated On: May 27, 2018 06:49 PM IST

0
पीएम मोदी ने जिसकी तारीफ की थी, उस 'फ्लाइंग गर्ल' ने हासिल किया अब यह मुकाम

वो दौर अब गुजर चुक है जब इंडियन एयरफोर्स में जब पुरुषों के जलवे की ही कहानियां सुनने को मिलती थीं. हाल ही में भारत की तीन महिलाओं ने एयरफोर्स की फाइटर पायलट बनने का ख्वाब पूरा किया है और अब एनसीसी की एयरविंग से जुड़ी एक ऐसी महिला कैडेट भी अपनी कामयाबी की उड़ान को पंख देने की कोशिशों में जुटी है जिसकी तारीफ खुद पीएम मोदी कर चुके हैं.

tanupriya with pm modi

एनसीसी की 1 यूपी एयर स्क्वॉड्रन आगरा की अंडर ऑफिसर कैडेट तनुप्रिया सिंह उस वक्त दुनिया की नजर में आईं थी जब पीएम मोदी ने उनकी उपल्धियों का चर्चा करते हुए उनके साथ अपनी तस्वीर को ट्वीट किया था. 'फ्लाइंग गर्ल' के नाम से मशहूर और कई बड़े कारनामे करने वाली तनुप्रिया ने हाल ही में एनसीसी में एक ऐसा मुकाम हासिल किया है जिसे पाना किसी भी युवा कैडेट का ख्वाब होता है. तनुप्रिया को एनसीसी के डीजी कमेंडेशन कार्ड से नवाजा गया है. यह सम्मान निस्वार्थ भाव के पूरे समर्पण के साथ एनसीसी के जरिए सोशल सर्विस को अंजाम देने के लिए दिया जाता है. यह सम्मान इतना खास है कि इससे पहले तनुप्रिया की यूनिट में करीब 22 साल पहले किसी कैडेट को यह मुकाम हासिल हुआ था.

1500 फीट से जंप लगाने वाली पिता-पुत्री की इकलौती जोड़ी

अपनी मेहनत,समर्पण और एयरफोर्स के लिए अपने जुनून के चलते तनुप्रिया इससे पहले भी कई ऐसे कारनामे कर चुकी हैं जो अपने आप में अनौखे हैं. तनुप्रिया एनसीसी की ऐसी महिला कैडेट हैं जिन्होंने एयरफोर्स के एएन 32 विमान से 1500 फीट की ऊंचाई से पैंरा जंप लगाई हैं. तारीफ की बात यह है कि उनके पिता के पिता सुरेन्द्र सिंह भी एयर फोर्स के पैरा जंपिंग के इंस्ट्रक्टर हैं और 2016 में पिता-पुत्री की इस जोड़ी ने एक साथ 1500 मीटर की ऊंचाई से जंप लगाई थी. ऐसा कारनामा करने वाली पिता-पुत्री की यह देश की इकलौती जोड़ी हैं.

 

tanupriya with father

एनसीसी की रिपब्लिक डे कैंप में तनुप्रिया से मिले पीएम मोदी भी उनके इस कारनामे के काफी प्रभावित हुए थे और इस उपलब्धि को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अभियान से भी जोड़ा गया था. इंडियन आर्म्ड फोर्सेज के लिए तनुप्रिया का जुनून यहीं नहीं थमा. वह इसके बाद एनसीसी एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत सिंगापुर भी गईं जहां दुनियाभर के कैडेट्स के बीच उन्होंने दूसरी सर्वश्रेष्ठ कैडेट का खिताब हासिल किया.

ttttt

बतौर एनसीसी कैडेट इतनी बड़ी कामयाबियां हासिल करने के पीछे तनुप्रिया के हौसले की वजह उनके पिता का वह शानदार रिकॉर्ड है जो उन्होंने पैरा जंपिंग में हासिल किया है. तनुप्रिया के पिता को राष्ट्रपति के हाथों अर्जुन पुरस्कार के बराबर माना जाने वाला तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवॉर्ड भी मि‍ल चुका है.

तनुप्रिया ने फर्स्टपोस्ट हिंदी से बात करते हुए बताया कि एयरफोर्स से जुड़ने के ख्वाब ने उनके मन में उस वक्त आकार लेना शुरू कर दिया था जब वह एयरफोर्स स्कूल में पढ़ने गईं थीं. तनुप्रिया के लिए उनके पिता ही उनके रोल मॉडल हैं.

यूपी के गर्वनर के हाथों सम्मानित हो चुकी तनुप्रिया आगरा कॉलेज से ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद अब एयरफोर्स की सर्विस की तैयारी कर रही हैं. भारतीय एयरफोर्स के दरवाजे महिला पायलट के लिए खुलने के बाद अब तनुप्रिया भी फाइटर पायलट बनने के ख्वाब को पूरा करने में जुटी हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi