S M L

अयोध्या: दिवाली पर सरयू तट पर स्थापित होगी श्रीराम की भव्य प्रतिमा

यूपी सरकार ने पर्यटन के विकास के लिए धार्मिक महत्व रखने वाले सरयू नदी के तट की विकास योजना बनाई है

Updated On: Oct 10, 2017 02:02 PM IST

Bhasha

0
अयोध्या: दिवाली पर सरयू तट पर स्थापित होगी श्रीराम की भव्य प्रतिमा

उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या को पर्यटन के दृष्टि से आकर्षक बनाने के लिए सरयू तट पर भगवान राम की भव्य प्रतिमा की स्थापना करेगी. इसके अलावा भी पर्यटकों को लुभाने के लिए अनेक योजनाएं शुरू की जाएंगी. इन वजहों से अयोध्या की दिवाली इस बार खास और गहमागहमी भरी होगी.

सोमवार को प्रदेश के सूचना विभाग के प्रमुख सचिव ए के अवस्थी ने राज्यपाल राम नाईक के सामने ‘नव्य अयोध्या’ परियोजना का प्रेजेंटेशन देकर बताया कि अयोध्या को पर्यटन मानचित्र पर ऊभारने के मकसद से सरयू तट पर भगवान राम की भव्य प्रतिमा का निर्माण पर्यटन विभाग कराएगा. इसके लिये राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) से एनओसी लिया जाएगा.

उन्होंने बताया कि सरकार इसके अलावा रामकथा गैलरी, सरयू तट का विकास, ‘रानी हो’ के स्मारक घाटों का सुधार कराएगी. खास तौर पर गुप्तार घाट, जहां भगवान राम ने जल समाधि ली थी, दिगंबर अखाड़ा परिसर में मल्टी परपज प्रेक्षागृह का निर्माण, राम की पौड़ी, पर्यटकों के ठहरने के लिए जगह, सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरा, पुलिस बूथ, आने-जाने के साधन सहित अन्य नागरिक सुविधाएं जैसे शौचालय और जल निकासी का पक्का इंतजाम करेगी.

अवस्थी ने बताया कि अयोध्या को एक प्रमुख पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने के लिये पर्यटन मंत्रालय को 195.89 करोड़ रुपए की डीपीआर भेजी गई थी. जिसमें 133.70 करोड़ की रकम स्वीकृत कर राज्य सरकार को दी गई है.

सरयू नदी का तट

सरयू नदी का तट

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरयू तट का होगा विकास 

उन्होंने राज्यपाल को बताया कि 18 अक्तूबर को छोटी दिवाली के अवसर पर अयोध्या में आयोजित होने वाले दीपोत्सव कार्यक्रम में राम की पौड़ी पर 1,71,000 दीप जलाए जाएंगे. दीपोत्सव कार्यक्रम में अयोध्या की हेरिटेज वॉक, भगवान राम के अयोध्या आगमन को दर्शाते हुए भव्य शोभा यात्रा, यात्रा के रामकथा पार्क आगमन पर पूजन-वंदन और श्रीराम के प्रतीकात्मक राज्यभिषेक का आयोजन किया जाएगा.

सरयू नदी पर बने नए घाट पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री द्वारा आरती की जाएगी. साथ ही नदी तट पर लेजर शो का भी आयोजन किया जाएगा. कार्यक्रम में इंडोनेशिया और थाईलैंड के कलाकारों द्वारा रामलीला का मंचन किया जाएगा.

इस कार्यक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री एल्फांस कन्नथानम और केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा समेत स्थानीय सांसद, विधायक और बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण और पर्यटक शामिल होंगे.

राज्यपाल राम नाईक ने पर्यटन विभाग के प्रेजेंटेशन की तारीफ करते हुए कहा कि अयोध्या को पर्यटन स्थल बनाने के मकसद से श्रद्धालुओं और पर्यटकों के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं.

राज्यपाल नाईक और मुख्यमंत्री योगी इस मौके पर अयोध्या के विकास से संबंधित योजनाओं का शिलान्यास, प्रधानमंत्री आवास योजना, नए बिजली कनेक्शन और अन्य योजनाओं के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र आदि का वितरण भी करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi