विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

फ्लेक्सी-फेयर पर बोले प्रभु, 'लोगों को सुविधाएं चाहिए तो किराया भी ज्‍यादा दें'

किराए में बढ़ोतरी को लेकर प्रभु ने कहा कि पहली बार एक ऐसा प्राधिकरण बनाया गया है जो सेवाओं की लागत का मामला देखता है

FP Staff Updated On: May 26, 2017 11:12 AM IST

0
फ्लेक्सी-फेयर पर बोले प्रभु, 'लोगों को सुविधाएं चाहिए तो किराया भी ज्‍यादा दें'

आज बीजेपी सरकार के तीन साल पूरे हो चुके हैं. किसी भी सरकार में रेल मंत्रालय बेहद महत्वपूर्ण मंत्रालय होता है. तीन साल पूरे होने के मौके पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने सीएनएन-न्यूज18 से खास बातचीत में रेलवे की व्यवस्था, सुविधा और फ्लेक्सी-फेयर पर कई अहम बातें कहीं.

जहां लोगों को फ्लेक्सी-फेयर के चलते किराया बढ़ने की आशंका है वहीं, प्रभु फ्लेक्सी-फेयर को लेकर कुछ खास नरम नहीं दिखे. उन्होंने कहा कि इसकी समीक्षा के लिए बोल दिया गया है लेकिन बढ़ी हुई सुविधाओं के चलते आई लागत का भुगतान करना चाहिए.

दरअसल, राजधानी, दूरंतो और शताब्दी ट्रेनों में फ्लेक्सी-फेयर लाने को लेकर चिंता है कि इससे रेल का किराया हवाई जहाज के किराए जितना हो जाएगा. इस पर रेल मंत्री ने साफ किया कि यह रेल की ट्रैफिक डिपार्टमेंट का फैसला है.

उनका मानना है कि लोगों को सुविधाएं देते हुए यह तरीका रेलवे के लिए ज्यादा रेवेन्यू लेकर आएगा. हमने पहले ही इस मामले की समीक्षा के लिए कह दिया है.

डिस्काउंट की बात कोई नहीं करता

सुरेश प्रभु ने कहा कि यह रेलवे के इतिहास में पहली बार है कि रिजर्वेशन चार्ट तैयार करने के बाद पहली बार लोगों को सीट उपलब्ध कराई जा रही हैं और वो भी 10 प्रतिशत डिस्काउंट के साथ. यह दुख की बात है कि हम 10 प्रतिशत छूट की बात नहीं कर रहे हैं.

किराए में बढ़ोतरी को लेकर प्रभु ने कहा कि पहली बार एक ऐसा प्राधिकरण बनाया गया है जो सेवाओं की लागत का मामला देखता है. अगर रेलवे की लागत बढ़ती है तो कुशलता के लिए आप ज्यादा भुगतान करते हैं. हम नई तकनीक लेकर आ रहे हैं जिससे आगे दक्षता बढ़ेगी. मूल्य निर्धारण निरंतर आधार पर किया जाना चाहिए और हम स्पष्ट रूप से इस पर काम कर रहे हैं.

रेलवे की हालत में सुधार के मसले पर सुरेश प्रभु ने बताया कि रेलवे अब लंबे समय तक खराब स्थिति में नहीं रहने वाला है लेकिन इसकी स्पीड पकड़ने में समय जरूर लगेगा. उन्होंने सातवें वेतन आयोग को खराब व्यवस्था के लिए जिम्मेदार बताते हुए कहा कि रेलवे में फिर से जान डालने के लिए व्यवस्थागत सुधार किए गए हैं.

सुरक्षा का मुद्दा रेलवे के लिए काफी अहम रहा है. हर रेल दुर्घटना के साथ रेलवे में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठते रहे हैं. इस मसले पर सुरेश प्रभु ने कहा अगर आप सुरक्षा रिकॉर्ड को देखेंगे तो पता चलेगा कि काफी सुधार हुआ है. हालांकि, रेल के पटरी से उतरने के मामले बड़े हैं. हमने इस क्षेत्र में काफी काम किया है. रेलवे आॅटोमेटिक ट्रैक रिन्यूअल मशीन लेकर आ रहा है. सिग्नल में भी सुधार किया जाएगा और 40 हजार नए कोच बनाए जा रहे हैं. पुराने कोच भी दुर्घटना का बड़ा कारण बनते हैं.

( साभार: न्यूज 18 )

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi