S M L

हारने वाले ही लगाते हैं चुनाव आयोग पर आरोप: नए चुनाव आयुक्त

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर आरोप वही लगाते हैं जो चुनाव हार जाते हैं

Bhasha Updated On: Jan 24, 2018 10:26 PM IST

0
हारने वाले ही लगाते हैं चुनाव आयोग पर आरोप: नए चुनाव आयुक्त

नव नियुक्त मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओम प्रकाश रावत ने लाभ का पद मामले में आप के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने की चुनाव आयोग की सिफारिश का बुधवार को बचाव किया. ये सिफारिश उनके पूर्ववर्ती अचल कुमार जोती ने पद से सेवानिवृत्त होने के एक दिन पहले की थी.

रावत ने कहा कि अगर यह फैसला नहीं किया गया होता तो मामले में पुन: सुनवाई की गुंजाइश रहती. गुजरात चुनाव के ऐलान में देरी और हाल में आप के विधायकों को अयोग्य ठहराने के फैसले के बाद क्या चुनाव आयोग की क्या विश्वसनीयता कम हुई है, इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह इस विचार से सहमत नहीं है. 'मेरा मानना है कि हमारे काम में इस तरह के विपरीत विचार रखना विश्वसनीयता घटने का संकेत नहीं है.'

दिल्ली उच्च न्यायालय में मामला होने का हवाला देते हुए उन्होंने विवाद पर और टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि तीन आयुक्तों-नसीम जैदी, एके जोती और उन्होंने खुद मामले को सुना था.

रावत ने कहा कि आयोग सर्वसम्मति या बहुमत के आधार पर काम करता है. जब जैदी सेवानिवृत्त हुए तो एक ही आयुक्त रह गया. आयोग को लगा कि दूसरे आयुक्त को शामिल किए गए बिना मामले पर फैसला नहीं हो सकता है इसलिए वह इसमें शामिल हुए.

आप नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा निष्पक्षता पर सवाल करने के बाद रावत ने इस मामले से खुद को अलग कर लिया था.

उन्होंने कहा कि फिर से यही स्थिति आई जब जोती 22 जनवरी को सेवानिवृत्त हुए और वह अकेले होते और मामला पुन: सुनवाई के लिए खुला होता.

उन्होंने कहा, 'लिहाजा या तो आपको मामले पर फैसला करना था या इसे खुला छोड़ना था. इसे पहले ही दो साल हो गए हैं.'

इससे अलग डीडी न्यूज को दिए गए एक साक्षात्कार के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर आरोप वही लगाते हैं जो चुनाव हार जाते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि हमारे कई फैसलों पर राजनीतिक पार्टियां न्यायालय चली जाती हैं लेकिन हमें खुशी है कि तकरीबन हर बार हमारे फैसले सही साबित होते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi